रोडवेज की बसों में सफर हुआ महंगा,बढ़ा दिया गया है यात्री किराया

लखनऊ। पेट्रोलियम उत्पादों के बढ़ते दामें के बाद अब सफर भी हो महंगा जाएगा। यूपी में टोल दरों में बढ़ोतरी के बाद अब इसका खामियाजा यात्रियों के जेब पर पड़ने जा रहा है। यूपी में टोल की दरों में बढ़ोतरी के बाद अब रोडवेज की बसों में सफर करने वाले यात्रियों को अपनी जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी। राज्य परिवहन निगम की बसों में 1 रुपये से लेकर 7 रुपये तक किराया बढ़ा दिया गया और बढ़ा हुआ किराया तत्काल प्रभाव से लागू भी हो गया है। यह बढ़ोतरी केवल टोल मार्गों पर होगी। इसका मतलब है कि कानपुर से दिल्ली, लखनऊ, आगरा समेत उन सभी जगहों का किराया बढ़ा है, जहां जाने के लिए टोल देना पड़ता है। यात्री बढ़े हुए किराए से नाराज हैं। वह कहते हैं कि लगातार महंगाई बढ़ रही है, अब सफर भी महंगा हो गया। निगम ने साधारण बसों में 100 किलोमीटर तक का सफर करने वाले यात्रियों से  01 रुपये से लेकर डेढ़ रुपए तक किराए को बढ़ाया है। जबकि एसी बसों में किराया एकमुश्त में 7 रुपये तक बढ़ा दिया गया है। निगम प्रशासन का दावा है कि इससे परिवहन निगम पर टोल का बोझ कम पड़ेगा। टोल में बढ़ी हुई दरों की समीक्षा करने के बाद निगम ने बसों को किराया बढ़ाए जाने का फैसला किया है। बढ़ा हुआ किराया तत्काल प्रभाव से लागू भी कर दिया गया है। अभी यह किराया मैनुअल टिकट के रूप में लिया जा रहा है। बसों में एटीएम मशीनों के जरिए फीडिंग हो जाने के बाद यात्रियों को मशीन से मिलने वाले टिकट को भी बढ़े हुए किराए के साथ दिया जाएगा। जैसे पहले लखनऊ से अयोध्या तक का साधारण बस का किराया 184 रुपये था जिसकी जगह 187 रुपये यात्रियों को देने होंगे। लखनऊ से हरदोई लखनऊ से रायबरेली, कानपुर और सीतापुर जाने वाले यात्रियों को भी 2 से 3 रुपया किराया बढ़ा कर देना होगा। एसी बसों में सफर करने वालों पर 3 रुपये से लेकर 7 रुपये अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।