केसीसी तथा ऋण स्वीकृति के लिए 01 मई तक संचालित होगा अभियान

बहराइच। आज़ादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत ‘‘किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी’’ अभियान के तहत 01 मई 2022 तक भारत सरकार के निर्देशानुसार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि प्राप्त करने वाले किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड से आच्छादित किये जाने के उद्देश्य से सोमवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने बैंक प्रतिनिधियों को निर्देश दिया कि सभी पात्र किसानों को केसीसी से आच्छादित किया जाय। जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिया गया कि अभियान के सफल संचालन हेतु वार रूम स्थापित कर वाररूम के दूरभाष नम्बर का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाय ताकि किसी प्रकार की समस्या आने पर सम्बन्धित किसान अपनी शिकायत दर्ज करा सकें।

डीएम डॉ. चन्द्र ने सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि कृषि एवं सम्बद्ध विभागों यथा-कृषि, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, रेशम, दुग्ध एवं गन्ना उत्पादन इत्यादि से जुडत्रे किसानों को भी केसीसी/ऋण स्वीकृति में प्राथमिकता प्रदान की जाय। डीएम डॉ. चन्द्र ने पशुपालन, मत्स्य, रेशम, दुग्ध एवं गन्ना विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि विभागीय अधिकारियों के लिए लक्ष्य निर्धारित करते हुए विभागीय योजनाओं से जुड़े कृषकों को आच्छादित कराना सुनिश्चित करें। सभी सम्बन्धित जिला स्तरीय अधिकारी अपने स्तर पर विभागीय अधिकारियों के कार्यों की समीक्षा करते रहें तथा लक्ष्य पूरा न करने वाले अधिकारियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही भी की जाय। डीएम ने लीड बैंक प्रबन्धक को निर्देश दिया कि अभियान के दौरान अपेक्षित सहयोग ने करने वाले बैंकों को चिन्हित कर उनके कन्ट्रोलिंग अघिकारियों के संज्ञान में लाया जाय। साथ ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में सहयोग न करने वाले बैंकों के सम्बन्ध में पीएमओ को अवगत कराया जाय।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, उप निदेशक कृषि टी.पी. शाही, अग्रणी जिला प्रबंधक अमित गौरव, जिला कृषि अधिकारी सतीश कुमार पाण्डेय, जिला उद्यान अधिकारी पारसनाथ, जिला कृषि रक्षा अधिकारी आर.डी. वर्मा, सहायक निदेशक मत्स्य, डेयरी विकास अधिकारी, क्षेत्रीय प्रबन्धक आर्यावर्त बैंक सहित बैंकों के जिला समन्वयक मौजूद रहे।