JEE मेन 2022 के दोनों पेपर का सिलेबस जारी

जेईई मेन 2022 के दोनों पेपर का सिलेबस नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने जारी कर दिया है। जेईई मेन सिलेबस 2022 को देखकर छात्र और भी बेहतर तरीके से तैयारी कर सकते हैं। इसके साथ-साथ एनटीए ने पिछले साल के पेपर को भी देखने का सलाह छात्रों को दिया है।

पेपर 1 बीटेक और बीई के लिए है। वहीं, पेपर टू बीऑर्क व बी प्लानिंग के लिए है। जारी सिलेबस में कोई बदलाव नहीं किया गया है। जेईई मेन 2022 का सिलेबस भी अन्य सत्रों की तरह ही है। जेईई मेन के सभी प्रश्न एनसीईआरटी पर आधारित रहेंगे।

11वीं और 12वीं से आधे-आधे प्रश्न पूछे जायेंगे। एनसीईआरटी 12वीं से समाधान और 11वीं से सॉल्यूशन के प्रश्न पूछे जायेंगे। जेईई मेन अप्रैल और मई के लिए फॉर्म भराने की प्रक्रिया जारी है।

दोनों सत्र की परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्र 31 मार्च तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जेईई मेन का विस्तृत सिलेबस व जानकारी https:// jeemain. nta. nic. in पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। सेक्शन ए में फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ्स के 20-20 प्रश्न एमसीक्यू होंगे। सेक्शन बी में प्रत्येक विषय से 10-10 प्रश्न न्यूमेरिक वैल्यू बेस्ड पूछे जायेंगे। सेक्शन बी में 10 में से कोई पांच प्रश्न विद्यार्थियों को हल करने होंगे। इस प्रकार 90 में से 75 प्रश्न विद्यार्थियों को हल करने होंगे। पहले चरण की परीक्षा 16, 17, 18, 19, 20 व 21 अप्रैल एवं दूसरा अटैम्प्ट 24, 25, 26, 27, 28 व 29 मई को आयोजित होगा।

भौतिकी : माप, घूर्णन गति, ऊष्मा गतिकी, गतिकी पर दें ध्यान

जेईई मेन के भौतिकी विषय के विशेषज्ञ मेंटर एडुसर्व के निदेशक आनंद जायसवाल ने बताया कि फिजिक्स में सेक्शन ए से : भौतिकी और माप, घूर्णन गति, ऊष्मागतिकी, गतिकी, कार्य, ऊर्जा और शक्ति, ठोस और द्रव के गुण, गुरुत्वाकर्षण, गति के नियम, दोलन और तरंगें, विद्युत उपकरण, गैसों की गति के सिद्धांत, विद्युत धारा, संचार व्यवस्था, विद्युत चुम्बकीय प्रेरण और प्रत्यावर्ती धाराएं, धारा के चुंबकीय प्रभाव और चुंबकत्व, ऑप्टिक्स, विद्युतचुम्बकीय तरंगें, अणु और नाभिक, स्थिर विद्युत, पदार्थ की दोहरी प्रकृति और विकिरण से प्रश्न होंगे वहीं, सेक्शन बी में प्रायोगिक कौशल प्रश्न पूछे जाएंगे।

रसायन से इन विषयों से पूछे जायेंगे प्रश्न

वहीं रसायन विज्ञान विशेषज्ञ विंग्स एडुवेंचर के निदेशक दीपक वशिष्ठ ने बताया कि केमिस्ट्री में रसायन विज्ञान की कुछ बुनियादी अवधारणाएं, पदार्थ की अवस्थाएं, परमाणु संरचना, रासायनिक आबंध और आणविक संरचना, रासायनिक ऊष्मागतिकी, विलयन, साम्यावस्था, रेडॉक्स अभिक्रियाएं और विद्युत रसायन, रासायनिक गतिकी, पृष्ठ रसायन. वहीं, ऑरगेनिग केमिस्ट्री से शुद्धिकरण और जैविक यौगिकों की विशेषताएं, हाइड्रोकार्बन, दैनिक जीवन में रसायन विज्ञान, व्यावहारिक रसायन विज्ञान से जुड़े सिद्धांत, हैलोजेनयुक्त कार्बनिक यौगिक, ऑक्सीजनयुक्त कार्बनिक यौगिक, नाइट्रोजनयुक्त कार्बनिक यौगिक, बहुलक, जैविक रसायन विज्ञान के कुछ बुनियादी सिद्धांत, जैविक अणु. इसके साथ इनऑर्गेनिट केमिस्ट्री से तत्वों का वर्गीकरण और गुणधर्मों में आवर्तिता, हाइड्रोजन, एस ब्लॉक तत्व (एल्कली और एल्कलाइन भू धातुएं), पी ब्लॉक तत्व (समूह 13 से 18 के तत्व), डी और एफ ब्लॉक के तत्व, उप-सहसंयोजक यौगिक, पर्यावरणीय रसायन विज्ञान, धातु निष्कर्षण और प्रक्रिया के सामान्य सिद्धांत पूछे जाएंगे।

गणित विषय के महत्वपूर्ण बिंदु

गणित विषय के विशेषज्ञ प्रो. केसी सिन्हा ने बताया कि गणित में सम्मिश्रण संख्याएं और द्विघातीय समीकरण, आव्यूह और सारणिक, समुच्चय, संबंध एवं फलन, गणितीय उपपत्तियां, क्रमपरिवर्तन और संयोजन, गणितीय तर्क, सीमा: सातत्य एवं अवकलनीयता, समाकलन, त्रिविमीय ज्यामिति, अवकल समीकरण, द्विपद प्रमेय और इसके सरल अनुप्रयोग, क्रम और श्रृंखला, सदिश बीजगणित, सांख्यिकी और संभाव्यता, त्रिकोणमिति, निर्देशांक ज्यामिति से प्रश्न पूछे जायेंगे।