CISF ने गृह मंत्रालय से पूर्व सैनिकों की भर्ती बंद करने को कहा

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल द्वारा बिना हथियार वाली ड्यूटी के लिए प्रायोगिक तौर पर 1700 पूर्व सैनिकों की भर्ती को अर्द्धसैनिक बल का कुछ खास समर्थन नहीं मिल रहा है। बल ने केंद्रीय गृह मंत्रालय से इन सभी पूर्व सैनिकों का अनुबंध समाप्त करने का अनुरोध किया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पिछले साल सीआईएसएफ को कहा था कि वह ताप बिजली घरों और कोयला उत्पादन इकाइयों सहित देश में अपनी 13 सुरक्षा इकाइयों में ‘नॉन कोर’ ड्यूटी के लिए 2000 पूर्व सैनिकों की भर्ती पर विचार करे। इन पूर्व सैनिकों की भर्ती एक साल के लिए की जानी थी, इस अनुबंध को एक-एक साल के लिए दो बार बढ़ाया जा सकता था। इस प्रायोगिक भर्ती का लक्ष्य पूर्व सैनिकों की ‘मदद और पुनर्वास’ का लाभ लेना था।