कूड़ा डालने व जलाने के विवाद में पथराव से मची अफरा तफरी, मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को कराया शांत

ब्यूरो ,सीतापुर : जनपद सीतापुर की कोतवाली महमूदाबाद कस्बे के मोतीपुर वार्ड में कूड़ा डालने व जलाने को लेकर रविवार की शाम लगभग साढ़े सात बजे के आस पास शुरू मामूली बहस ने पूरे वार्ड में अफरा तफरी का माहौल उत्पन्न कर दिया । और वही जानकारी अनुसार कूड़ा जलाने को लेकर आमने-सामने के पड़ोसियों में हो रही मामूली बहस ने उस वक्त तांडव का रूप ले लिया। जब वार्ड के ही कुछ अराजक तत्वों ने एक पक्ष पर ईट पत्थर से हमला करना शुरू कर दिया। मामला दो समुदायों से जुड़ा होने के कारण आनन फानन में वार्ड के लोगों ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी। और मौके पर पहुंची पुलिस ने उपरोक्त मामले को गंभीरता से लेते हुए कस्बा इंचार्ज धर्मेंद्र बहादुर सिंह व 112 पी आर वी के साथ मौके पर पहुंचे।  और पत्थर चला रहे अराजक तत्वों को दौड़ कर पकड़ लिया । और वही महमूदाबाद कस्बा के मोतीपुर वार्ड निवासिनी माया देवी पत्नी राजमल ने अपने घर के बाहर सरसों की बची हुई पुवाल को जला रही थीं।  जिससे नाराज नूरजहां पत्नी पुत्तन के बीच बहस हो गई । और दोनों महिलाओं में काफी देर तक बहस होती रही । जिसके बाद नूरजहां के बेटे ने आग पर पानी डालकर उसे बुझा दिया। जिससे विवाद होने लगा । इसी बीच अचानक वार्ड के ही रहने वाले दो- तीन लोगों ने नूरजहां और उनके पड़ोसियों के घर पर पथराव शुरू कर दिया। बताया जाता है कि पथराव किए जाने से नूरजहां के घर के पास खड़ी वैन पर भी ईंट पत्थर पड़ने से उसका भी नुकसान हो गया है । और महमूदाबाद कोतवाल अनिल सिंह ने बताया कि पुलिस जांच के दौरान पता चला है कि माया देवी और नूरजहां के बीच हुए विवाद में दोनों पक्ष एक दूसरे से बहस कर रहे थे लेकिन कुछ अराजक तत्वों के द्वारा पथराव कर के माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई । और महमूदाबाद पुलिस की सक्रियता के चलते मामला शांत हो गया। तथा मामले में शामिल दोनों पक्षों के लोगों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की गई ।