तीन दिवसीय प्रशिक्षण का आज अंतिम दिन

बरेली। आत्मनिर्भर भारत अभियान योजनान्तर्गत तीन दिवसीय सूक्ष्म खाद्द उद्योग उन्नयन योजना (पीएमएफएमआई) में एक जनपद एक उत्पाद में दुग्ध प्रसंस्करण खाद्द प्रसंस्करण  क्षेत्र में सूक्ष्म उधमो के विकास संबंधी तीन दिवसीय प्रशिक्षण में विशेषज्ञों द्वारा जानकारी दी गई। बरेली के आईवीआरआई स्थित कृषि विज्ञान केंद्र पर तीन दिवसीय का आयोजन किया गया जिसमें क्षेत्र के ग्रामीणों को लघु उद्योग की तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जो 24 मार्च से 26 मार्च तक चलेगा। जिसका उद्घाटन परियोजना निदेशक एवं उप निदेशक उद्यान बरेली मंडल द्वारा संयुक्त रूप से किया जा गया है, कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में संयुक्त निदेशक उद्योग बरेली मंडल द्वारा उद्योगों एवं सब्सिडी की विस्तृत जानकारी प्रदान की गई है। जिसमें बताया गया कि मिल्क के द्वारा प्रोसेसिंग क्रीम सेपरेशन, पनीर ,खोया, पलेवर्ड‌ मिल्क पाश्चुराइजेशन मिल्क आदि एवं सुधीर मल्होत्रा सीए द्वारा दूध से संबंधित पदार्थ मशीन प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने की विस्तृत जानकारी दी गई ।कार्यक्रम का आयोजन रमेश चंद्र प्रधानाचार्य, राजकीय खाद्य विज्ञान परीक्षण केंद्र बरेली के द्वारा किया गया।पीएम एफएमई योजना अंतर्गत उधमियों को 35 प्रतिशत पर एक लाख का अनुदान प्राप्त होगा।