बहु बेटे के आतंक से दुखी विधवा वृद्धा की नहीं सुन रही गोवर्धन पुलिस

मथुरा। शासन में बैठे लोग चाहे लाख थाने व तहसीलों में लोगों की सुनवाई होने का दावा करते हों लेकिन सच्चाई इसके विपरीत है।थाना में पीड़ितों की सुनवाई नहीं हो रही है।पुलिस मस्त है।ऐसा ही मामला कस्बा व थाना गोवर्धन दसविशा होली वाली गली की रहने वाली विधवा वृद्धा कुसुम शर्मा का प्रकाश में आया है।पीड़िता कई बार अपनी रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए थाने के चक्कर लगा चुकी है लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। पीड़िता थाने के चक्कर लगा कर परेशान हो गई है। बहू बेटे के आतंक से दुखी कुसुम शर्मा पत्नी स्वर्गीय मुन्ना लाल शर्मा ने मुख्यमंत्री पोर्टल व एसएसपी को की शिकायत में कहा है कि पीड़िता का बड़ा पुत्र दीपक शर्मा उसकी पत्नी ब्रज वाला आए दिन गाली गलौज मारपीट कर जान से मारने की धमकी देते रहते हैं। पुत्र व बहू मारपीट करते हुए कई बार जमीन पर घसीट कर ले आए हैं। बहू बृजबाला छोटे देवर अमित शर्मा व सुमित शर्मा को झूठे बलात्कार के मुकदमे में फंसाने की धमकी देती है।बहु बेटे कहते हैं कि घर में खाना बनाने के दौरान आग लगाकर जान से मार देंगे और कोई शक भी नहीं करेगा। पीड़िता 25 फरवरी की शाम लगभग 6 बजे खाना बनाने घर गई तो पुत्र दीपक व बहू बृजबाला ने भद्दी भद्दी गाली गलौज देते हुए मारपीट कर जान से मारने की धमकी देकर घर से बाहर निकाल दिया है। कहा यह घर हमारा है।घर के गेट का ताला डाल दिया है।घर में खाना बनाने के लिए भी नहीं घुसने दे रहे हैं।पीड़िता को अपना व अपने दोनों पुत्रों की जान माल का खतरा है।