इंटरव्यू के दौरान भावुक हुए रोहित शर्मा, कहा- कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया के कप्तान बनूँगा

Rohit Sharma gets emotional: रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ने टेस्ट क्रिकेट में शानदार शुरुआत की है। भारतीय टीम ने मोहाली में खेले गए पहले टेस्ट मैच में श्रीलंका को पारी और 222 रन से हराकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली। फुल टाइम कप्तान के रूप में रोहित का यह पहला टेस्ट मैच था और उन्होंने अपने 'डेब्यू' मैच में ही इतिहास रच दिया। रोहित बतौर कप्तान अपने डेब्यू मैच में ही पारी से जीत दर्ज करने वाले अब तक के मात्र दूसरे भारतीय कप्तान हैं। उनसे पहले पॉली उमरीगर ने 1956 में यह उपलब्धि हासिल की थी। पहले टेस्ट मैच के बाद रोहित ने हाल में बीसीसीआई टीवी पर एक इंटरव्यू दिया, जिसमें वह काफी भावुक नजर आए। 

रोहित ने BCCI टीवी के साथ इंटरव्यू के दौरान कहा कि उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि वह तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया के कप्तान बनेंगे। श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले रोहित को भारत का 35वां टेस्ट कप्तान बनाया गया था। भारत और श्रीलंका के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का अब दूसरा मैच 12 मार्च से बेंगलुरू में खेला जाएगा, जो डे नाइट टेस्ट मैच होगा। भारतीय कप्तान ने कहा, 'भारतीय टीम की कप्तानी करना और इस लिस्ट का हिस्सा बनना मेरे लिए एक बहुत बड़े सम्मान की बात है। इसके बारे में मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था।' 

हिटमैन रोहित ने कप्तानी के अलावा अपने फैसलों से भी फैंस का दिल जीता। मोहाली टेस्ट विराट कोहली के करियर का 100वां टेस्ट मैच था। इस मुकाबले में उन्होंने 45 रन बनाए। कोहली के ऐतिहासिक मैच को और खास बनाने के लिए रोहित ने विराट के लिए गार्ड ऑफ ऑनर आयोजित करने का फैसला किया। कप्तान ने अपने साथी खिलाड़ियों के साथ कोहली को गार्ड ऑफ ऑनर देने के बाद कहा था, 'इस फार्मेट में हम जहां खड़े हैं, उसका पूरा श्रेय विराट को जाता है।'