जरैली कोठी दरगाह का वार्षिक उर्स आयोजित

बांदा। गुरुवार रात में पुलिस लाइन तिराहे के पास स्थित जरैली कोठी दरगाह में हज़रत सैय्यद बाबा का कदीमी उर्स मनाया गया। उर्स में फातिहा ख्वानी कुरआन ख्वानी,चादर पोशी के साथ साथ लंगर (भंडारे ) का इंतज़ाम किया गया। जानकार बताते है कि इस दरगाह में पहली चादर पुलिस लाइन के किसी अधिकारी के द्वारा चढाई जाती है। या वे किसी को भेज कर चादर चढ़वाते हैं।

दरगाह कमेटी के अध्यक्ष इकबाल अहमद ने बताया कि जैरैली कोठी वाले सैय्यद बाबा का उर्स लगभग 150 वर्षों से हो रहा है। हर साल की तरह इस साल भी गुरुवार को उर्स का आयोजन किया गया। उर्स में सुबह से ही फातिहा पढ़ने चादर चढ़ाने और मन्नत मांगने वालों का तांता रहा। हिन्दू मुस्लिम दोनों ही धर्म के मानने वाले बड़ी संख्या में अकीदतमंद दरगाह पर माथा टेकने पहुंचे।