खूब मूर्ख बनाया व्यापारी नेता ने प्रत्याशियों को-किशन राजपाल

 गोण्डा । गोंडा की व्यापारी शुरू से लेकर मतदान के दिन तक अधर में लटके रहे। उनकी चिंता का विषय यह रहा की वोट किसे देना है। कौन है व्यापारियों का सच्चा हितेषी। गोंडा में वैसे तो कई व्यापार मंडल है। लेकिन औपचारिक रूप में 300 प्रति वर्ष का शुल्क लेकर अपना सदस्य बनाने का कार्य केवल एक ही व्यापार मंडल (अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल  संदीप बंसल ग्रुप) करता है। जिस के अगुआ है जगदीश रायतानी। जगदीश रायतानी संगठन में प्रदेश मंत्री, मंडल प्रभारी एवं जिला प्रभारी के रूप में कार्य कर रहे हैं। वे चुनाव भर कभी भाजपा के प्रत्याशी के साथ फोटो खींचते रहे और कभी सपा के प्रत्याशी के साथ फोटो खींचाते रहे और अंत तक व्यापारियों को स्पष्ट संदेश नहीं दे पाए वोट किसे देना है। यह खेल उन्होंने पहली बार नहीं खेला है। हर चुनाव में उनका यही खेल रहता है। इस तरह हर चुनाव में प्रत्येक प्रत्याशी को मूर्ख बनाकर जीतने वाले प्रत्याशी से 5 साल तक लाभ लेते रहते हैं। राजनैतिक विद्वानों का कहना है कि प्रत्येक प्रत्याशी को ऐसे लोगों से उचित दूरी बनाकर रखना चाहिए। नाम न बताने की शर्त पर मिली जानकारी के अनुसार जब इनके नेता स्वर्गीय त्रिलोकी नाथ अग्रवाल नगर पालिका अध्यक्ष का चुनाव लड़े थे। तो उन्हें इन्ही के क्षेत्र मालवीय नगर के बूथ से मात्र 1 वोट मिला था मतलब इनका बिल्कुल भी जनाधार नहीं है। लेकिन प्रत्याशियों का दिल है कि मानता नहीं।