देश में ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सरकार का पेट्रोलियम मंत्री ने किया बचाव, बोले- देश की जनता को सस्ती कीमतों पर उपलब्ध कराने का किया जा रहा है प्रयास

नई दिल्ली : पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को देश में ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सरकार का बचाव करते हुए कहा कि ऐसा अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतों में बढ़ोतरी के कारण हुआ है। हालांकि, उन्होंने आश्वासन दिया कि देश की जनता को सस्ती कीमतों पर ईंधन उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। लोकसभा में एक सवाल के जवाब में पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में एलएनजी की कीमतें अप्रैल 2021 से फरवरी 2022 की तुलना में 37 प्रतिशत से अधिक बढ़ गई हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संकट के बाद रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध से जो हालात पैदा हुए हैं उसका असर ईंधन की कीमतों पर दिख रहा है। पुरी ने कहा कि जहां तक एलपीजी की कीमत की बात है तो यह सऊदी सीपी (अनुबंध मूल्य) पर आधारित है। इसमें अप्रैल 2020 से मार्च 2022 तक 285 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। 

हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि मैं इन तथ्यों को सदन में इसलिए रखना चाहता हूं, सभी सदस्य समझ सकें कि आज अंतरराष्ट्रीय स्थिति क्या है। इन परिस्थितियों के बावजूद सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है कि देश में उपभोक्ताओं को सस्ती कीमत पर ईंधन मिल सके। ईंधन की कीमतों में उबाल के बीच पुरी ने सरकार का बचाव करते हुए कहा कि केंद्र का हमेशा से यह प्रयास रहा है कि उपभोक्ताओं को अच्छे किफायती मूल्य" पर सीएनजी उपलब्ध हो।