डीएम की अध्यक्षता में उभयलिंगी समुदाय को कल्याणकारी स्कीमों लाभान्वित करने के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न

बैठक के दौरान किन्नर समाज के अध्यक्ष को डीएम ने किया सम्मानित

बहराइच। उभयलिंगी समुदाय को कल्याणकारी स्कीमों, स्वास्थ्य, शिक्षा, आवास, कल्याणकारी, आर्थिक सहयोग, रोजगार के समान अवसर उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी डॉ दिनेश चन्द्र ने किन्नर समाज के अध्यक्ष हाजी रहमत उर्फ सुरैया को साल, मिष्ठान व वाकिंग स्टिक/छड़ी भेंट कर सम्मानित किया। उभयलिंगी समुदाय के व्यक्तियों को एक पहचान पत्र निर्गत किया जायेगा। पहचान पत्र के आधार पर उभयलिंगी समुदाय अन्य शासकीय कल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकेगें।  

उभयलिंगी समुदाय को सभी एमटीएफ और एफटीएम पद्धतियों सहित सुरक्षित और लिंग पुष्टिकरण सर्जरी परामर्श और हार्मोन प्रतिस्थापन उपचार के लिए सरकारी अस्पताल को सुसज्जित करने, निजी अस्पतालों में उभयलिंगी व्यक्तियों से सम्बन्धित एसआरएस पद्धतियों, हार्मोन उपचार, लेजर उपचार, परामर्श से जुडे मुद्दों को चिकित्सा बीमा/आरोग्य श्रीकार्ड, राज्य चिकित्सा बीमा कवर करेगा। स्वास्थ्य देख-रेख सुविधाओं हेतु अलग से वार्ड सुनिश्चित करने की व्यवस्था की जाय। उभयलिंगी समुदाय के शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए उभयलिंगी छात्रों के लिए छात्रवृत्ति, स्कूलो में समावेशी और गुणवत्तापरक शिक्षा का प्राविधान तथा शिकायत निवारण प्राविधानों सहित शैक्षिक संस्थान में रैंगिग के विरूद्व संरक्षण प्रदान करने की व्यवस्था की जाय।

 उभयलिंगी समुदाय को किफायती आवास, स्वच्छता और सुरक्षित पेयजल की उपलब्धता के साथ खाद्य सुरक्षा स्कीमों और राशन कार्ड के प्राविधान के लिए सार्वभौमिक पहुंच के अलावा वृद्धि अश्क्त अथवा अन्य कमजोर उभयलिंगी व्यक्तियों के लिए पेंशन, वृद्धा आश्रम व विश्राम गृह की व्यवस्था। सार्वजनिक परिवहन में उत्पीड़न मुक्त स्थल की व्यवस्था सुनिश्चित कराना। आर्थिक सहयोग के लिए जीवन बीमा का सार्वभौमिक कवरेज, ऋण सुविधाओं सहित बैकिंग एवं वित्तीय सेवाआंे तक पहुंच बनाना। मनरेगा और अन्य सामाजिक सुरक्षा स्कीमों जैसे रोजगार गारण्टी स्कीमों में उभयलिंगी व्यक्तियों को स्पष्ट रूप से शामिल करना। स्वयं सहायता समूहों का गठन करना, शून्य ब्याज और सूक्ष्म वित्त स्कीमों का प्राविधान करना। रोजगार के समान अवसर के लिए सभी प्रतिष्ठानों में रोजगार में उभयलिंगी व्यक्ति के विरूद्व गैर भेद-भाव सुनिश्चित करने के लिए सभी उपायों को कार्यान्वित करना। कर्मचारियों के लिंग की पहचान को गोपनीय रखना। प्रत्येक प्रतिष्ठान उभयलिंगी व्यक्तियों के लिए समान अवसर नीति प्रकाशित करे। उभयलिंगी समुदाय के व्यक्तियों के चिन्हाकन के उपरान्त किन्नरों द्वारा पहचान पत्र हेतु बेवसाइड ट्रांसजेण्डर डाट डीओएसजेई डाट जीओवी डाट इन पर आवेदन किया जा सकता है।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर विनय कुमार द्विवेदी, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एस.के. सिंह, सीएमएस डा. ओ.पी. पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, जिला समाज कल्याण अधिकारी नलिन राज, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी जी.डी. यादव, दिव्यागंजन सशक्तिकरण अधिकारी ए.के. गौतम, जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी संजय मिश्रा सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।