शारदे काव्य संगम मंच और शब्द व्यूह साहित्य मंच का होलिकोत्सव आधारित साझा शानदार कवि सम्मेलन

कानपुर : शारदे काव्य मंच और शब्दव्यूह मंच का साझा कवि सम्मेलन आज दिनांक 16 मार्च को बहुत ही भव्य रूप में आयोजित हुआ। कार्यक्रम के अध्यक्ष  छंद महालय के संस्थापक आदरणीय रामनाथ साहू ननकी जी मुख्य अतिथि महोदय दी ग्राम टुडे समाचार पत्र के सम्पादक आ. सुभाष पाण्डेय जी और विशिष्ट अतिथि कनौजी साहित्य के सिरमौर आ. प्रखर दीक्षित जी की उपस्थिति में हुई।  कार्यक्रम का श्रेष्ठ संचालन आदरणीय गजेंद्र हरिहारनो 'दीप' जी ने किया कार्यक्रम का प्रारम्भ मांँ शारदे की वंदना से शारदे काव्य संगम की सचिव आदरणीया रेखा कापसे कुमुद जी ने किया दोनों पटलों की अध्यक्षा महोदया आदरणीया डॉ. मधु शंखधर 'स्वतंत्र' द्वारा सभी का स्वागत करते हुए स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया स्वागत गीत के पश्चात होली के रंगों से सजे हुए गीतों की प्रस्तुति दी  निशा अतुल्य, डॉ.मीरा पुष्पांजलि, गौतम केशरी, अंजना सिन्हा 'सखी', ममता तिवारी 'ममता' ,  सविता मिश्रा , अमरनाथ सोनी 'अमर' , रामसाय श्रीवास 'राम' , दीपिका रुखमांगद ,  ज्योति सिंह बेदी 'येशु' , डॉ .आलोक कुमार यादव , डॉ.बृजेश कुमार शंखधर , रमेश माल चिमणे , नरेंद्र वैष्णव सक्ती जी ।शब्द व्यूह साहित्य मंच के संस्थापक आदरणीय चंदन केसरवानी जी सभी की रचनाओं ने विभिन्न रंगों से काव्योत्सव में जान डाल दी। काव्य गोष्ठी के अंतर्गत  *'रंग गुलाल उड़ाओ रे*' विषय को चरितार्थ करते हुए शानदार गीतों की प्रस्तुति हुई । पटल पर डॉ. यशपाल सिंह चौहान की व शारदे काव्य मंच के संस्थापक आदरणीय रोहित चौरसिया जी जी की उपस्थिति कार्यक्रम को सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती रही। अध्यक्षीय उद्बोधन आ. गुरुदेव रामनाथ साहू जी द्वारा देकर कार्यक्रम का समापन किया गया।दोनों पटलों की समस्त कार्यकारिणी व संचालक मंडल का सहयोग रहा। शारदे काव्य संगम की सचिव महोदया रेखा कापसे 'कुमुद' जी द्वारा आभार व्यक्त किया गया। संरक्षक महोदय आ. शैलेंद्र पयासी जी द्वारा यह विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया। सभी को होली की शुभकामनाएं देते हुए यह कार्यक्रम पूर्णता को प्राप्त किया।