वित्त मंत्री : डिजिटल रुपया में दिख रहा स्पष्ट लाभ, कही ये बड़ी बात

नई दिल्ली : केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को बेंगलुरु में आयोजित इंडिया ग्लोबल फोरम के वार्षिक शिखर सम्मेलन में आरबीआई की डिजिटल करेंसी को लेकर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि डिजिटल रुपया केंद्रीय बैंक के परामर्श के बाद लिया गया सचेत निर्णय है और हम इसमें स्पष्ट लाभ देखते हैं। 

डिजिटल रुपये पर एक सवाल के जवाब में कहा सीतारमण ने कहा कि हम चाहते हैं कि आरबीआई डिजिटल रुपया को जिस तरह से चाहे डिजाइन करे, लेकिन ये संभावना पूरी है कि केंद्रीय बैंक की यह डिजिटल मुद्रा इसी साल लॉन्च की जाएगी।

सम्मेलन को संबोधित करते हुए सीतारमण ने कहा कि हम केंद्रीय बैंक द्वारा संचालित प्रस्तावित डिजिटल मुद्रा में स्पष्ट लाभ देखते हैं, क्योंकि वर्तमान में देशों के बीच होने वाले थोक भुगतान, संस्थानों के बीच बड़े लेन-देन और प्रत्येक देश के केंद्रीय बैंकों के बीच बड़े लेन-देन, ये सभी डिजिटल मुद्रा के साथ बेहतर ढंग से हो रहे हैं। 

इस बीच देश में क्रिप्टोकरेंसी को विनियमित करने के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार द्वारा इसे विनियमित करने या फिर प्रतिबंधित करने के लिए कोई तैयारी नहीं है। उन्होंने कहा कि गहन विचार-विमर्श और परामर्श के बाद सरकार इसके बारे में बात करेगी। यह पूछे जाने पर कि क्या वह भारत में क्रिप्टो के लिए भविष्य देखती हैं, सीतारमण ने कहा कि कई भारतीयों ने इसमें बहुत भविष्य देखा है और इसलिए मुझे इसमें राजस्व की संभावना दिखाई देती है।