दोषी हम सब हैं

तुम क्यों दोष देते हो

सरकारों को?

जब भी हो जाती है देश में

अप्रिय सी घटना कोई,

इस देश के इतिहास में

किसी भी सरकार ने

सत्ता में रहते अपनी कोई

गलती अब तक

मानी है कभी क्या?

कब समझ आएगा तुम्हें

कि सरकारें लेती रहीं हैं

हमेशा से

अपने सिर सफलताओं का श्रेय,

विफल हमेशा जनता होती है

एक अच्छी सरकार चुनने में।

                   जितेन्द्र 'कबीर'