चित्रकूट में थाना प्रभारी सहित 3 सिपाही सस्पेंड

2 संदिग्ध युवकों को रात भर थाने में बैठाए रखा

बिना चालान किए छोड़ा, SP ने किया सस्पेंड

चित्रकूट पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने नयागांव थाना प्रभारी और तीन सिपाहियों को सस्पेंड करते हुए चारों को पुलिस लाइन में अटैच किया है। ये चारों पुलिसकर्मी नयागांव थाने में तैनात थे। जानकारी के मुताबिक, नयागांव थाना प्रभारी संतोष तिवारी के अलावा नयागांव थाना के ही सिपाही रघुवीर सिंह, विमलेश यादव और धर्मेंद्र सिंह को निलंबित किया है। एसपी के मुताबिक, अभी इनके विरुद्ध विभागीय जांच चल रही है। जांच के बाद अगली कार्रवाई हो सकती है।

आरोप है कि रात में गश्त चेकिंग के दौरान नयागांव पुलिस ने 2 लोगों को पकड़ा था। उन्हें रात भर थाने में बैठाया गया और सुबह छोड़ दिया गया। दोनों को क्यों पकड़ा गया और क्यों छोड़ दिया गया, यह पुलिस रिकार्ड में नहीं है। सूत्रों की मानें तो महज 500 रुपए का चालान काटकर दोनों को छोड़ दिया गया, लेकिन थाना प्रभारी के विरुद्ध यह शिकायत थी कि बुधवार को रात भर थाने में बैठाने के बाद भी दोनों संदेहियों को बिना लिखा पढ़ी के छोड़ा गया।

शनिवार की देर रात पुलिस अधीक्षक ने इन्हें सस्पेंड कर लाइन अटैच किया है। इस मामले की जांच एसडीओपी प्रभा किरण किरो कर रही हैं। बता दें कि दीपावली मेले में बांदा-चित्रकूट सांसद को थाना प्रभारी संतोष तिवारी द्वारा मध्य प्रदेश क्षेत्र में न घुसने की बात कही थी और उन्हें ठेका दिखाया गया था। स्थानी उदय भान द्विवेदी ने बताया, संतोष तिवारी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सीमा पर बसे चित्रकूट पर हमेशा देर रात चेकिंग लगाकर अवैध वसूली करते थे।