अब भी ITR फाइल करने का मौका

नई दिल्ली : वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आयकर रिटर्न (ITR) दाखिल करने की समयसीमा 31 दिसंबर 2021 थी, जो अब खत्म हो चुकी है। अगर इस तिथि तक ITR फाइल नहीं कर सके हैं, तो 'बिलेटेड आईटीआर' दाखिल करने का विकल्प अब भी मौजूद है। हालांकि, इसके एवज में जुर्माना भी देना पड़ता है। जुर्माने की राशि 5 हजार रुपए तक होती है। वहीं, कुछ ऐसे भी लोग हैं जो बिना जुर्माने के 'बिलेटेड आईटीआर' फाइल कर सकते हैं। आयकर कानूनों के अनुसार, समय सीमा समाप्त होने के बाद आईटीआर दाखिल करने के लिए हर किसी को दंड का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। यदि कोई व्यक्ति जिसकी ग्रॉस इनकम मूल छूट सीमा से अधिक नहीं है और वह देर से आईटीआर फाइल करता है, तो उसे जुर्माना देने की जरूरत नहीं होगी। ये नियम इनकम टैक्स कानून के सेक्शन 234F के तहत है।

31 दिसंबर तक कितनी फाइलिंग: आपको बता दें कि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए करीब 5.89 करोड़ आयकर रिटर्न (आईटीआर) जमा किए गए हैं। इनमें से 49.6 प्रतिशत आईटीआर-1 (2.92 करोड़), 9.3 प्रतिशत आईटीआर-2 (54.8 लाख), 12.1 प्रतिशत आईटीआर-3 (71.05 लाख), 27.2 प्रतिशत आईटीआर-4 (1.60 करोड़) और 1.3 प्रतिशत आईटीआर-5 (7.66 लाख) हैं।