गोवा : COVID-19 मामलों में भारी उछाल, हुआ ये बड़ा फैसला

पणजी। वैश्विक महामारी से पूरा देश जूझ रहा है। कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन लगतार देश-दुनिया की चिंता बढ़ा रहा है। भारत में तेजी से कोविड-19 के नए ममाले बढ़ रहे हैं। वहीं गोवा सरकार ने बढ़ते मामलों के बीच सोमवार को बड़ा फैसला लिया, सरकार ने तटीय राज्य में कोविड-19 मामलों में वृद्धि को देखते हुए 26 जनवरी तक सभी स्कूल और कॉलेज बंद करने की घोषणा की है।

गोवा में लगतार कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। क्रिसमस और न्यू ईयर सेलिब्रेशन के बाद गोवा में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़े हैं और राज्य का पाजिटिविटी रेट बढ़कर 10.7 फीसदी पर पहुंच गया है। सोमवार को COVID-19 पर टास्क फोर्स की बैठक की अध्यक्षता करने वाले मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने संवाददाताओं से कहा कि गोवा सरकार राज्य में रात का कर्फ्यू भी लगाएगी। रात्रि कर्फ्यू रात 11 बजे से लगाया जाएगा जो सुबह छह बजे तक जारी रहेगा। उन्होंने यह कदम राज्य में कोरोना वायरस की वर्तमान स्थिति को देखते हुए उठाया है।

टास्क फोर्स के एक सदस्य शेखर साल्कर ने पणजी में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'कल से 26 जनवरी तक स्कूलों में कक्षा 8 और 9 के लिए शारीरिक सत्र बंद करने का निर्णय लिया गया है।' साल्कर ने कहा की स्कूल पढ़ाई के लिए नहीं खुलेंगे लेकिन कक्षा 11 और 12 के छात्रों को COVID-19 के खिलाफ टीका लेने के लिए स्कूल जाना होगा। उन्होंने बताया कि जब एक बार छात्रों को टीकाकरण दे दिया जाएगा, उसके बाद उन्हें 26 जनवरी तक कक्षाओं में शामिल होने की कोई आवश्यकता नहीं होगी। उन्होंने कहा कि तटीय राज्य के कालेज भी 26 जनवरी तक बंद रहेंगे।

अधिकारी ने बताया कि राज्य में साप्ताहिक कोविड​​​​-19 लगभग पांच फीसद है, जिसके कारण यह प्रतिबंध लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इनडोर गतिविधियों पर भी प्रतिबंध लगाएगी। अधिकारी ने यह भी कहा कि हालांकि राज्य में कोविड ​​​​-19 मामलों की संख्या अधिक थी, लेकिन मृत्यु और अस्पताल में भर्ती होने के दर कम रहे। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, रविवार को गोवा में 388 नए कोविड ​​​​-19 मामले दर्ज किए गए, जिससे राज्य में कुल संक्रमण की संख्या 1 लाख 81 हजार 570 हो गई है, जबकि एक मौतों का बढ़कर 3,523 हो गया है।