स्वामी प्रसाद के बाय-बाय पर केशव की गुजारिश, एक के बाद एक कई विधायकों ने छोड़ा बीजेपी का साथ

लखनऊ। चुनाव से ठीक पहले जब दिल्ली में प्रदेश के सीएम से लेकर सभी दिग्गज बीजेपी नेता उम्मीदवारों की लिस्ट पर माथापच्ची कर रहे हैं, उसी दौरान आज पार्टी को एक के बाद एक कई झटके लगे। सबसे बड़ा झटका प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफा देकर दिया। स्वामी प्रसाद बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। इसके बाद तो आज एक के बाद एक अन्य नेताओं ने भी पार्टी छोड़ी। बीजेपी छोड़ने वालों में कानपुर के बिल्हौर से बीजेपी विधायक भगवती सागर, बांदा के तिंदवारी से एमएलए बृजेश प्रजापति, शाहजहांपुर के तिलहर से विधायक रोशन लाल हैं। इन सभी के भी समाजवादी पार्टी में शामिल होने की अटकलें तेज हैं। इससे पहले स्वामी प्रसाद मौर्य अपना इस्तीफा लेकर राजभवन पहुंचे थे। केशव का ट्वीट, पुनर्विचार को कहा पार्टी से एक के बाद एक विधायकों के पार्टी छोड़ने पर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट कर लिखा, आदरणीय स्वामी प्रसाद मौर्य ने किन कारणों से इस्तीफा दिया है। मैं नहीं जानता हूं। उनसे अपील है कि बैठकर बात करें जल्दबाजी में लिए हुए फैसले अक्सर गलत साबित होते हैं। अपने इस ट्वीट में केशव प्रसाद, स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में जाने के फैसले पर पुनर्विचार की बात कही है। लेकिन ऐसा नहीं है, कि स्वामी प्रसाद पलटकर बीजेपी की तरफ देखने वाले हैं। बताया जाता रहा कि काफी समय से स्वामी मौर्य, अखिलेश यादव के सीधे संपर्क में थे। अब ऐसे में केशव की अपील खारिज होती ही दिख रही है। स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी पर उपेक्षात्मक आरोप लगाया। मीडिया से अपनी बेटी और बदायूं से बीजेपी सांसद संघमित्रा के इस्तीफा के सवाल पर कहा, कि यह उनका व्यक्तिगत फैसला है। साथ ही उन्होंने कहा, कि इस्तीफा देने के बाद उनके साथ कौन और संपर्क में होगा। इसके बारे में वह फिलहाल कुछ भी नहीं कहेंगे।