स्वामी विवेकानन्द जी का जन्म आज ही के दिन युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है : नवाबजादा सैयद मासूम रज़ा, एडवोकेट

लखनऊ : स्वामी विवेकानन्द जी का जन्म युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इनका जन्म कोलकाता में एक साधारण कायस्थ परिवार में 12 जनवरी 1863 में हुआ था। सल्तनत मंजिल, हामिद रोड, निकट सिटी स्टेशन, लखनऊ के रॉयल फेमिली के नवाबजादा सैयद मासूम रज़ा, एडवोकेट ने आगे कहा कि इनका नाम नरेंद्रनाथ दत्त था। इन्होंने हमेशा अपने विचारों से लोगों की जिंदगी को रोशनी प्रदान की। उनकी 159वीं जयंती भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में 12 जनवरी को धूम धाम से मनाया मनाया जाता है। यह एक विख्यात एवम प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु थें। स्वामी विवेकानन्द जी सिर्फ संत ही नहीं बल्कि एक महान देशभक्त, विचारक, वक्ता, अच्छे लेखक के इलावा इंसानों से से बेहद प्रेम करते थें। विवेकानंद जी द्वारा किए गए कामों को हमेशा याद किया जाएगा। शिकागो, अमेरिका में 30 वर्ष की आयु में विश्व धर्म सम्मेलन में हिंदू धर्म का प्रतिनिधित्व किया और एक पहचान दिलाई। इन्होंने 4 जुलाई 1902 को इस दुनिया को हमेशा हमेशा के लिए अलविदा कह दिया।