कासिम सुलेमानी की बरसी पर ईरान ने कहा- ट्रंप पर यदि मुकदमा नहीं चलता है तो फिर हम बदला लेंगे


ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रियासी ने अपने पूर्व जनरल कासिम सुलेमानी की दो साल पहले हुई हत्या का बदला लेने की बात कही है। उन्होंने सोमवार को कहा कि यदि डोनाल्ड ट्रंप पर यदि मुकदमा नहीं चलता है तो फिर हम बदला लेंगे। 3 जनवरी, 2020 को तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर इराक में ईरानी सेना के टॉप जनरल कासिम सुलेमानी पर ड्रोन अटैक हुआ था। इसमें कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी। इस घटना के चलते वैश्विक राजनीति में उबाल देखने को मिला था। अमेरिका और ईरान के बीच तनाव इस कदर बढ़ गया था कि युद्ध की आशंकाएं जताने लगी थीं।

सोमवार को टेलीविजन पर दिए भाषण में रियासी ने कहा, 'यदि डोनाल्ड ट्रंप और तत्काली विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो पर जनरल सुलेमानी की हत्या का मुकदमा नहीं चलता है तो फिर मुस्लिम हमारे शहीद जनरल का बदला लेंगे।' रविवार को ईरान की ओर से एक खत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को लिखा गया था। इसमें मांग की गई थी कि अमेरिका और इजरायल को कासिम सुलेमानी की हत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। ईरान की ओर से सुलेमानी की हत्या के लिए इजरायल को भी जिम्मेदार ठहराया जाता रहा है। 

कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र को बताया था कि यह हमला सेल्फ डिफेंस में किया गया था। अमेरिका का कहना था कि मिडल ईस्ट में अपने सैनिकों और हितों की रक्षा के लिए ऐसा किया गया है। गौरतलब है कि कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद से ईरान और अमेरिका के बीच रिश्ते बेहद निचले स्तर पर चले गए थे। तब दोनों देशों के बीच युद्ध की आशंकाएं भी जताई जाने लगी थीं, लेकिन यह टल गया था। बता दें कि ईरान में कासिम सुलेमानी की मौत की बरसी पर उनके सम्मान में कार्यक्रम किए गए और अमेरिका के खिलाफ प्रदर्शन भी किए गए थे।