भारी गिरावट के साथ बंद हुए शेयर बाजार, 800 अंक लुढ़का सेंसेक्स

नई दिल्ली : ओमिक्रॉन की चिंता में अमेरिकी बाजार बुधवार को भारी गिरावट के साथ बंद हुए। इसका असर आज घरेलू शेयर मार्केट पर भी दिख रहा है। आज यानी गुरुवार को बाजार गिरावट के साथ खुला। इसी के साथ पिछले चार दिन की तेजी थम गई। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स गुरुवार को 491 अंक टूटकर  59,731.75 के स्तर पर खुला। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने आज के दिन के कारोबार की शुरुआत 17768 के स्तर से की।

बता दें बुधवार को डाऊजोंस 392 अंक लुढ़ककर 36407 और नैस्डैक 522 अंकों की गिरावट के साथ 15100 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, एस एंड पी में 93 अंकों की गिरावट दर्ज की गई। यह 4700 पर बंद हुआ। मार्केट के जानकारों की मानें तो यह गिरावट महामारी की तीसरी लहर की वजह से है। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 513.02 अंकों की गिरावट के साथ 59,710.13 के स्तर पर था तो वहीं निफ्टी 182.55 अंक लुढ़ककर 17,742.70 के स्तर पर था।वैश्विक बाजारों में नकारात्मक रुख और एचडीएफसी, इंफोसिस तथा टीसीएस के शेयरों के नुकसान में जाने के साथ बृहस्पतिवार को कारोबार में बीएसई सेंसेक्स में करीब 800 अंकों से अधिक की गिरावट आयी। सेंसेक्स 867 अंक लुढ़क कर 59,356.14 के स्तर पर आ गया। वहीं, निफ्टी 245.15 अंकों का गोता लगाकर 17,680.10 पर आ गया है।

सेंसेक्स में सबसे अधिक करीब दो प्रतिशत की गिरावट एचडीएफसी में हुई। इसके अलावा एचसीएल टेक, एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, कोटक बैंक, टेक महिंद्रा और टीसीएस भी घाटे में थे।  दूसरी ओर भारती एयरटेल, सन फार्मा, डॉ रेड्डीज और टाटा स्टील के शेयर भी नुकसान में रहे। शेयर बाजारों में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स बुधवार को 367 अंक चढ़कर 60,000 के स्तर पर पहुंच गया। यूरोपीय बाजारों में सकारात्मक रुख के साथ बैंक और वित्तीय शेयरों में तेजी से बाजार में मजबूती आई। 30 शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 367.22 अंक यानी 0.61 प्रतिशत मजबूत होकर 60,223.15 अंक पर बंद हुआ। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 120 अंक यानी 0.67 प्रतिशत की तेजी के साथ 17,925.25 अंक पर बंद हुआ।