ओमिक्रॉन के कारण दुनियाभर की 4000 उड़ानें रद्द, छुट्टियों के हफ्ते में बढ़ी परेशानी

नई दिल्ली : नए साल का जश्न मनाने के लिए दूसरे देशों और मशहूर पर्यटन स्थलों पर जाने का मन बनाने वालों को कोरोना के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट ने हताश किया है। दरअसल, ओमिक्रॉन के असर के कारण रविवार को दुनियाभर में लगभग 4000 उड़ानें रद्द की गईं। इनमें से आधे से अधिक उड़ानें सिर्फ अमेरिका में कैंसिल हुईं। ओमिक्रॉन के बढ़ते प्रकोप से पूरी दुनिया में एक बार फिर से दहशत पैदा हो गई है। इसका असर हर ओर देखने को मिल रहा है और विमानन उद्योग भी इससे खासा प्रभावित नजर आ रहा है। जहां एक ओर क्रिसमस के मौके पर हजारों उड़ानों के रद्दे होने से लोगों को परेशानी उठानी पड़ी, वहीं नए साल के जश्न पर भी ओमिक्रॉन ने बुरा असर डाला। एक रिपोर्ट के मुताबिक, सिर्फ रविवार को ही दुनियाभर में 4000 उड़ानें रद्द कर दी गईं। इनमें से आधे से अधिक उड़ानें अमेरिका की थीं। 

ट्रैकिंग वेबसाइट फ्लाइट अवेयर के अनुसार, रविवार को रात 8 बजे तक रद्द की गई उड़ानों में से 2,400 से अधिक उड़ानें संयुक्त राज्य अमेरिका आने या जाने वाली थीं। इसके अलावा रिपोर्ट में बताया गया कि कोरोना के नए वैरिएंट के बढ़ते प्रकोप के चलते वैश्विक स्तर पर 11,200 से अधिक उड़ानों में देरी हुई। इससे लोगों को खारी परेशानी का सामना करना पड़ा है। सबसे अधिक उड़ानें रद्द करने वाली एयरलाइनों में स्काईवेस्ट और साउथवेस्ट थे, इनकी क्रमशः 510 और 419 उड़ानें रद्द की गईं। 

क्रिसमस और नए साल की छुट्टियां आमतौर पर हवाई यात्रा के लिए एक चरम समय होता है, लेकिन कोरोना के नए संस्करण ओमिक्रॉन के तेजी से फैलने और संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि के कारण एयरलाइंस को पायलट और केबिन क्रू की कमी के चलते उड़ानें रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा है।