3 ट्रिलियन डॉलर वाली कंपनी बनने के एक दिन बाद ही Apple को झटका, घट गया मार्केट कैपिटल


नई दिल्ली : आईफोन और आईपैड बनाने वाली दिग्गज टेक कंपनी Apple का बाजार मूल्यांकन तीन ट्रिलियन (220 लाख करोड़ रुपये) डॉलर पहुंचने के बाद पूंजी में मंगलवार को गिरावट दर्ज की गई। मंगलवार को Apple के शेयरों में गिरावट की वजह से कंपनी का मार्केट कैपिटल घटकर अब 2. 95 लाख करोड़ रह गया है। मंगलवार को नैस्डेक पर Apple के शेयर 1.27% गिरकर 179.70 डॉलर पर बंद हुआ। बीते सोमवार को कंपनी के शेयरों में तेजी दर्ज की गई, जिसके बाद उसकी मार्केट वैल्यू तीन ट्रिलियन डॉलर हो गई थी ।

Apple इस उपलब्धि को हासिल कर कई देशों की जीडीपी से आगे निकल गई है। तीन ट्रिलियन की कंपनी बनने के बाद इसकी वैल्यू भारत और ब्रिटेन की जीडीपी से ज्यादा हो गई है। अमेरिका की नॉमिनल जीडीपी 20.49 ट्रिलियन डॉलर है। इस सूची में चीन 13.4 ट्रिलियन डॉलर के साथ दूसरे स्थान पर है। तीसरे नंबर पर जापान (4.97 ट्रिलियन डॉलर) और चौथे नंबर पर जर्मनी (4.00 ट्रिलियन डॉलर) है। वहीं, ब्रिटेन 2.83 ट्रिलियन डॉलर के साथ पांचवें, फ्रांस 2.78 ट्रिलियन डॉलर के छठे और भारत 2.72 ट्रिलियन डॉलर के साथ सातवें नंबर पर है।

Apple कंपनी की शुरुआत 1976 को हुई थी और यह अगस्त 2018 में एक ट्रिलियन डॉलर के स्तर पर पहुंची थी। इसके बाद दो साल में ही कंपनी की मार्केट वैल्यू दो ट्रिलियन डॉलर से अधिक हो गई। यहां से तीन ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचने में कंपनी को सिर्फ 16 महीने और 15 दिन लगे। इस कीर्तिमान को हासिल करने के बाद वॉलमार्ट, डिज़्नी, नेटफ्लिक्स, नाइकी, एक्सॉन मोबिल, कोका-कोला, कॉमकास्ट, मॉर्गन स्टेनली, मैकडॉनल्ड्स, एटीएंडटी, गोल्डमैन सैक्स, बोइंग, आईबीएम और फोर्ड की तुलना में Apple का बाजार मूल्यांकन बढ़कर कहीं ज्यादा हो गया है।