नूतन वर्ष 2022 अभिनंदन

लीजिए आख़िर आ ही गया वो जिसका हमें बेसब्री से इंतजार था, जिसके स्वागत में हम सभी कितने दिनों से अपनी पलकें बिछाए हुए थे।

जी हां हम बात कर रहे हैं नई साल की ।साल 2021 कुछ ही पलों में गत वर्ष की श्रेणी में शामिल हो जाएगा और हम सभी नए वर्ष 2022 को एक नई उमंग,एक नई तरंग के साथ अपनाएंगे।यह नव वर्ष हम सभी के लिए मंगलकारी होगा ऐसा हमें विश्वास है ।हमें ये विश्वास भी है कि यह नूतन वर्ष हम सभी के जीवन में नई आशाएं नई उम्मीदें और सकारात्मकता भरी ऊर्जा लेकर आएगा।

नववर्ष की पावन घड़ियां

मन में नव उमंग जगाती हैं

ओणम और पोंगल साथ मनाते

खुशियां अपार छा जाती हैं

नए वर्ष का आगमन होने ही वाला है तो क्यों ना हम सभी मिलकर पुराने वर्ष की कड़वाहट और बुरी यादों को अपने जहन से निकालकर नए साल का तहे दिल से स्वागत करते हैं और परम पिता परमेश्वर से प्रार्थना करते हैं कि हमारा,हैं सबका नया वर्ष हम सभी के लिए,पूरी सृष्टि के लिए कल्याणकारी हो और हम सभी के जीवन में चाही अनचाही सभी खुशियां आएं । 

नववर्ष की दस्तक दिलों में

आशा की आस जगाती है

इस की नूतन आहट से सारी

कलियां मन की खिल जाती हैं

नए साल में नई उमंग नई उम्मीद ही नहीं,जब नई अभिलाषा,नए विचार सब कुछ नया नया ही होगा तो हमें हमारा यह खूबसूरत संसार भी और अधिक सुंदर एवम नवीन ही प्रतीत होग। कितना सुकून भरा एहसास होगा न।पुराने वर्ष के दोस्तों और रिश्तों को छोड़कर बाकी सभी प्रकार की कड़वाहटों और कटु अनुभवों को हमें भूल जाना होगा और नए दोस्तों और रिश्तों के लिए अपना दिल खोल कर रखना होगा ।

हम सभी को निसंदेह आशा भरे सवेरे में उम्मीद की नई किरणों को जगमगाते हुए देखना है इसलिए नए साल में हमें प्रतिज्ञा लेनी होंगी जिनमें से सबसे बड़ी प्रतिज्ञा यह होगी कि हम चीजों के प्रति अपना सकारात्मक दृष्टिकोण रखते हुए स्वयं को खुश रखेंगे और दूसरों को भी हर खुशी देने का हर संभव प्रयास करेंगे। नए वादे,नए संकल्प,नए इरादे सब कुछ नया नया। नए साल की शुरुआत हम सब नई अच्छाइयों के साथ करेंगे और पुराने वर्ष की बुराइयों को भुलाकर एक नई शुरुआत करेंगे, नया संकल्प लेंगे कि नए वर्ष में हमारे मन में कोई भी गलत या नकारात्मक विचार नहीं आएगा और हम सब मिलकर अपने अथक प्रयासों के बल पर पूरे विश्व को सकारात्मक ऊर्जा से भर देंगे।

पिछला सब भूलें बिसराए हम

यही सीख सदा दी जाती है

नववर्ष के शुभ आगमन की बधाई

सबको गले लगाकर दी जाती है

कुछ ऐसी ही अन्य अनेक छोटी-छोटी बातों को अपनाकर अपने नए वर्ष को हम एक बेहतरीन वर्ष में तब्दील कर सकते हैं;जैसे बेवजह की चीजों पर हम अनावश्यक खर्चा नहीं करेंगे,अपने पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे, प्रदूषण को फैलने से रोकेंगे और ऐसा कोई भी कदम नहीं उठाएंगे जिसे नदियों, पहाड़ों और हमारी वनस्पति को नुकसान पहुंचे।हम सब सामूहिक योगदान से इस वर्ष को एक ऐसा वर्ष बनाएंगे जिसमें सभी स्वयं को सुरक्षित महसूस करेंगे चाहे फिर बच्चा हो नारी हो या बुजुर्ग हों,देश का प्रत्येक जन शिक्षित और स्वस्थ होगा,सभी को आगे बढ़ने के समान अवसर मिलेंगे,देश से भ्रष्टाचार खत्म होगा,बेरोजगारी दूर होगी और हमारी अर्थव्यवस्था को पहले से कहीं अधिक मजबूती मिलेगी।वसुधैव कुटुंबकम् की भावना के साथ हम विश्व के सभी देशों के साथ अपने संबंधों को और मजबूत करेंगे और राष्ट्र हितकारी नीतियों के निर्माण और पालन में सरकार को सहयोग करेंगे।

जितना हमसे संभव होगा,हम उतना अवश्य अपने राष्ट्र के लिए करेंगे।चाहे फिलहाल भारी भरकम वादों और इरादों की जगह अभी छोटे छोटे संकल्प ही क्यों न लेने हों,परंतु उन संकल्पों को पूरा करने का प्रयास हमें सतत निरंतर इमानदारी से करना होगा तभी हम स्वयं को और अपने अपनों को नववर्ष पर सच्चा उपहार दे पाएंगे।

पिंकी सिंघल

अध्यापिका

दिल्ली