अंडर-19 वर्ल्ड कप में हिस्सा लेना मुश्किल, वीजा के चलते अभी तक अफगानिस्तान टीम नहीं पहुंची वेस्टइंडीज

वेस्टइंडीज में इसी सप्ताह से अंडर-19 वर्ल्ड कप का आगाज होना है, लेकिन अभी तक इसमें हिस्सा लेने वाली अफगानिस्तान अंडर-19 टीम पहुंच नहीं पाई है। अफगानिस्तान को अपना पहला मैच 16 जनवरी को जिम्बाब्वे के खिलाफ खेलना है, लेकिन मौजूदा हालात देखते हुए ऐसा लग रहा है कि टीम अंडर-19 वर्ल्ड कप में हिस्सा ही नहीं ले पाएगी क्योंकि तालिबान शासित देश के खिलाड़ियों ने अभी तक टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए वीजा नहीं लिया है। इसी वजह से अफगानिस्तान और इंग्लैंड के बीच प्रैक्टिस मैच भी स्थगित करना पड़ा।

अफगानिस्तान की अंडर-19 टीम अभी तक कैरेबियाई देश नहीं पहुंची है, जिसकी वजह से आईसीसी को इंग्लैंड के खिलाफ सोमवार और यूएई के खिलाफ 12 जनवरी को उसके प्रैक्टिस मैच रद्द करने पड़े। आईसीसी ने एक बयान में कहा, 'अफगानिस्तान टीम वीजा लेने में देरी के कारण अभी तक वेस्टइंडीज नहीं पहुंची है। मामले का हल निकालने की कोशिशें जारी हैं।' आईसीसी ने यह नहीं बताया कि वीजा लेने में दिक्कत किन कारणों से आई। आईसीसी के टूर्नामेंट प्रमुख क्रिस टेटली ने कहा, 'अफगानिस्तान टीम वीजा मिलने में देरी के कारण अभी तक वेस्टइंडीज नहीं पहुंची है। मामले का हल निकालने के लिए बातचीत जारी है।'

वेस्टइंडीज जाने के लिए ज्यादातर लोगों को अमेरिका का ट्रांजिट वीजा चाहिए होता है। तालिबान के अफगानिस्तान में सत्तारूढ़ होने के बाद वहां से इंटरनेशनल ट्रैवल मुश्किल हो गया है। टेटली ने कहा, 'हमने प्रैक्टिस मैचों का शेड्यूल फिर से तैयार किया है ताकि टीमें अपनी तैयारी कर सकें।' इंग्लैंड की टीम अब यूएई से 11 जनवरी को खेलेगी।