हर शहर सात दिन के लिए नदी उत्सव मनाए: पीएम

सहारनपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में अखिल भारतीय मेयर सम्मेलन का वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से उद्घाटन और मेयरों के साथ वर्चुअल संवाद किया। सहारनपुर के मेयर संजीव वालिया ने भी इस सम्मेलन में हिस्सा लिया।प्रधानमंत्री मोदी के वर्चुअल संवाद का सीधा प्रसारण दिखाने की व्यवस्था नगर निगम द्वारा जनमंच सभागार में की गयी। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह व नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह सहित निगम के सभी अधिकारी तथा बड़ी संख्या में पार्षद मौजूद रहे।

मेयर सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने नदियों और जल स्रोतों के संरक्षण और उन्हें संवारने पर बल देते हुए कहा कि हर शहर के साथ किसी ना किसी नदी का सम्बंध है। हमें अपने शहर में नदियों के किनारे हर वर्ष सात दिन के लिए नदी उत्सव मनाना चाहिए। उन्होंने कहा, उस उत्सव में पूरे शहर को जोड़कर नदी को केंद्र में रखकर सांस्कृतिक, साहित्यक कार्यक्रम किये जा सकते है। इस उत्सव में नदी के महत्व और उसकी उपयोगिता का गुणगान करते हुए नदी की सफाई और उसकी विशेषता पर फोकस किया जाए। उन्होंने कहा कि  हम सभी को अपने शहरों की नदियों के प्रति एक संवेदनशील सोच और पहुंच अपनानी होगी। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि शहर का विकास जन भागीदारी से होना चाहिए। हमारा प्रयास होना चाहिए कि हमारा शहर स्वच्छ और स्वस्थ रहे। उन्होंने कहा कि हमारे देश के अधिकांश शहर पारंपरिक शहर हैं, पारंपरिक तरीके से ही विकसित हुए हैं। आधुनिकीकरण के इस दौर में हमारे इन शहरों की प्राचीनता का भी उतना ही महत्व है जितना आधुनिकता का। उन्होंने कहा कि काशी का विकास पूरे देश के विकास का रोड मैप हो सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अपने शहर का जन्मोत्सव आयोजित कर उसके इतिहास और उसकी विशेषताओं के साथ भी शहर के लोगों को जोड़ा जाना चाहिए। प्रधानमंत्री ने अमृत महोत्सव का उल्लेख करते हुए कहा कि अपने शहर में स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़ा कोई यूनिक स्थल बनाया जाना चाहिए। उन्होंने सभी मेयर से अपने शहर के मुख्य उत्पादों व विशेषताओं के साथ ब्रांडिंग करने पर जोर दिया। उन्होंने शहर में लगी प्रतिमाओं की सफाई के लिए एनसीसी आदि संगठनों की भागेदारी करने का सुझाव दिया।

इससे पूर्व मेयरों को संबोधित करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज की काशी प्राचीन और आधुनिकता के समन्वय का श्रेष्ठ उदाहरण है। काशी का विकास प्रधानमंत्री द्वारा नगरीय विकास की एक सुनिश्चित योजना का हिस्सा है। सात वर्ष में काशी ने विकास की एक लंबी यात्रा तय कर उदाहरण पेश किया है। कार्यक्रम में अपर नगरायुक्त राजेश यादव, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी रवीश चौधरी, उपनगरायुक्त दिनेश यादव, कर अधीक्षक विनय शर्मा के अलावा बड़ी संख्या में पार्षदों ने भागेदारी की।