कृषि विज्ञान केंद्र में किसानों ने गौ- आधारित प्राकृतिक खेती का सजीव प्रसारण देखा

झिलाही बाजार /गोंडा/आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केन्द्र मनकापुर गोन्डा द्वारा आज दिनांक 16 दिसंबर 2021 को केंद्र पर गौ- आधारित प्राकृतिक खेती का सजीव प्रसारण किसानों को दिखाया गया । यह कार्यक्रम अमूल आनंद गुजरात से प्रसारित किया गया । इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी ने गौ-आधारित प्राकृतिक खेती के अपनाने पर बल दिया । उन्होंने बताया कि रासायनिक उर्वरकों के प्रयोग से जैव विविधता को गम्भीर खतरा है । रासायनों के प्रयोग के बजाय गौ-आधारित प्राकृतिक खेती अपनाकर किसान भाई अपनी लागत को कम कर आय मे वृद्धि कर सकते हैं । इस अवसर पर अमित शाह केन्द्रीय गृह मंत्री, आचार्य देवबृत  राज्यपाल गुजरात, नरेंद्र सिंह तोमर केंद्रीय कृषि मंत्री, प्रमुख सचिव कृषि गुजरात आदि ने प्राकृतिक खेती को पर्यावरण हितैषी बताया तथा अपने अपने विचार व्यक्त किए । गौ- आधारित प्राकृतिक खेती के विभिन्न अवयवों में गौमूत्र, गाय का गोबर, गाय का का मट्ठा आदि का खेती में प्रयोग कर अच्छा उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है । इससे खेती की लागत काफी कम हो जाती है तथा प्राकृतिक खेती पर्यावरण के लिए अत्यंत लाभदायक है । इसके द्वारा उत्पादित अनाज सब्जियां फल गुणवत्तापूर्ण होते हैं जिनका सेवन पशु एवं मानव स्वास्थ्य के लिए अत्यंत उपयोगी है । इस अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डॉ मिथिलेश कुमार पांडेय, डॉक्टर के के मौर्य प्राध्यापक कृषि अभियंत्रण, डॉक्टर पीके मिश्रा वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि वानिकी, राम लखन सिंह वरिष्ठ वैज्ञानिक सस्य विज्ञान, डॉ मनोज कुमार सिंह उद्यान वैज्ञानिक, डॉक्टर दिनेश कुमार पांडेय वैज्ञानिक , इंद्र भूषण सिंह कार्यालय अधीक्षक एवं लेखाकार, उत्कर्ष विजय सिंह कंप्यूटर सहायक, विक्रम सिंह यादव, मेलाराम सहित प्रगतिशील कृषकों विद्या प्रसाद शुक्ला करुणा गौशाला, बाबादीन तिवारी, कैप्टन विजय बहादुर त्रिपाठी, शिव प्रसाद यादव, महादेव यादव राजेश कुमार वर्मा रामसागर आदि ने प्रतिभाग कर गौ- आधारित प्राकृतिक खेती की जानकारी प्राप्त की । इस अवसर पर मॉडर्न पब्लिक स्कूल मनकापुर के छात्रों ने प्रतिभाग कर गौ- आधारित प्राकृतिक खेती  का सजीव प्रसारण देखा ।