भारतीय सेना के शौर्य का इतिहास सबके लिए प्रेरणा: शीतल टण्डन

                                                 
जिला व्यापार मण्डल द्वारा 1971 के भारत-पाक युद्ध के स्वर्ण जयंती विजय दिवस पर शहीद मीनार पर शहीदों को नमन

सहारनपुर। उत्तर  प्रदेश उद्योग व्यापार मण्डल जनपद सहारनपुर के सदस्यों द्वारा व्यापार मण्डल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व जिलाध्यक्ष शीतल टण्डन के नेतृत्व में आज जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास कार्यालय के प्रांगण में प्रत्येक वर्ष 16 दिसम्बर को ‘विजय दिवस’ मनाये जाने की श्रृंखला में 1971 के भारत पाक युद्ध के स्वर्ण जयंती वर्ष के अवसर पर अमर जवान शहीद मीनार पर देश के शहीदों को पुष्पाजंलि अर्पित करते हुए नमन किया। इस अवसर पर श्री टण्डन ने कहा कि भारतीय सेना ने 1971 के भारत-पाक युद्ध में जिस ढंग से कठिनतम परिस्थितियों मे शौर्य दिखाया और कम से कम समय में विजय प्राप्त कर सम्पूर्ण विश्व में अपनी कार्यकुशलता के दम पर देश के नागरिकों का दिल जीता ऐसा उदाहरण विश्व में दुलर्भ ही है। उन्होंने कहा कि आज का दिन मातृभूमि की रक्षा के लिए दुश्मन से लडने वाली सैनिकों की वीरता, ंदेश प्रेम तथा त्याग और बलिदान और श्रद्धा प्रदर्शित करने का दिन है और यह हम सबका राष्ट्रीय कर्तव्य भी है। 

इस अवसर पर सीडीएस बिपिन रावत व 1971 के भारत-पाक युद्ध में सहारनपुर के दो शहीद सैनिकों फ्लाईंग आफीसर सुधीर त्यागी व राइफल मैन सुरेन्द्र सिंह रावत के चित्र पर पुष्पाजंलि अर्पित कर शहीदों को नमन किया गया। 

श्री टण्डन ने कहा कि उन्हें इस बात का गर्व है कि 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारत सरकार द्वारा उनको श्रेष्ठ नागरिक सेवाएं देने के संदर्भ में संग्राम मेडल से अंलकृत किया गया था। श्री टण्डन ने उन दिनों की स्मृति के बारे में कहा कि 1971 में मुंह की खाने के बाद 93000 पाकिस्तानी सैनिकों ने हमारी सेना के समक्ष आत्मसमर्पण किया था। पाक आज तक भारतीय सेना के खिलाफ आंख उठाने की हिमाकत नहीं कर सकता और यदि कभी की भी है तो भारतीय सेना ने उसका मंुहतोड़ जवाब दिया है। 1971 के युद्ध में देश की तीनों सेनाओं ने अपनी पूरी क्षमता के साथ भाग लिया और इसका परिणाम विजय के रूप में सामने आया और 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान देश की एकता और अखण्डता के लिए सभी राजनैतिक दलों और नागरिकों की उस समय की एकता भी अपने आप में एक मिसाल है।

इससे पूर्व व्यापारी प्रतिनिधियों ने जिला सैनिक कल्याण कार्यालय में पहुंचकर नवान्गतुक जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कमाण्डर चरणजीत चौहान का तिरंगा अंगवस्त्र, पुष्प व पुस्तक भेंटकर स्वागत किया। कमाण्डर चरणजीत चौहान ने व्यापारी प्रतिनिधियों की देशभक्ति की भावना की भूरि-भूरि प्रशंसा की। 

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष शीतल टण्डन, जिला महामंत्री रमेश अरोडा, जिला कोषाध्यक्ष राजीव अग्रवाल, जिला संयोजक कर्नल संजय मिडढा, मुरली खन्ना, संजीव सचदेवा, भोपाल सिंह सैनी आदि व्यापारी प्रतिनिधि तथा कमाण्डर चरणजीत चौहान मौजूद रहे।