सेंचुरियन टेस्ट में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने रचा इतिहास

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने सेंचुरियन टेस्ट में इतिहास रच डाला। भारत की ओर से सबसे तेज 200 टेस्ट विकेट लेने के मामले में मोहम्मद शमी तीसरे तेज गेंदबाज बन गए हैं। शमी ने अपने 55वें टेस्ट मैच में यह उपलब्धि हासिल की, जबकि कपिल देव ने ऐसा 50वें टेस्ट जबकि जवागल श्रीनाथ ने 54वें टेस्ट मैच में किया था। शमी ने इस मुकाम तक पहुंचने का क्रेडिट अपने पिता और भाई को दिया है। सेंचुरियन टेस्ट के तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद शमी ने प्रेस कॉन्फ्रेन्स के दौरान कहा कि वह जहां पहुंचे हैं, उसका सबसे ज्यादा क्रेडिट उनके पिता को जाता है।

शमी ने कहा, 'मैं आज जहां भी हूं और जो भी हूं मुझे लगता है उसका सबसे ज्यादा क्रेडिट मेरे पिता को जाता है। क्योंकि मैं ऐसे क्षेत्र से हूं, जहां ज्यादा सुविधाएं नहीं थीं। पांच विकेट लेना काफी खास है, इसके लिए काफी कड़ी मेहनत की जरूरत होती है। अपनी सफलता के लिए मैं अपने पिता और भाई को क्रेडिट देना चाहूंगा। मेरे पिता और मेरे भाई ने हमेशा मेरा साथ दिया। मैं जहां हूं वह सिर्फ उनकी वजह से हूं।'

शमी ने सेंचुरियन टेस्ट के तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीका के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। भारत ने पहली पारी में 327 रन बनाए, जवाब में दक्षिण अफ्रीकी टीम महज 197 रनों पर सिमट गई। शमी ने एडेन मार्करम, कीगन पीटरसन, टेम्बा बवुमा, वियान मुल्डर और कगीसो रबाडा का विकेट लिया। शमी ने इस मैच के दौरान अपने 200 टेस्ट विकेट भी पूरे कर लिए। यह छठा मौका था, जब शमी ने एक पारी में पांच विकेट झटके हैं।