एक बार फिर पाक के कराची में हिंदू मंदिर में हुई तोड़फोड़, आरोपी गिरफ्तार

कराची : पाकिस्तान में एक बार फिर एक हिंदू मंदिर के साथ तोड़फोड़ की गई। रिपोर्ट के मुताबिक कराची में एक मंदिर के साथ तोड़फोड़ करने के आरोप में 20 दिसंबर की रात एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है। पाकिस्तान मीडिया ने बताया है कि आरोपी शख्स 20 दिसंबर की शाम को कराची के रणछोर लाइन इलाके में एक हिंदू मंदिर में घुस गया और हिंदू देवता जोग माया की मूर्ति को हथौड़े से क्षतिग्रस्त कर दिया। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बाद में लोगों ने आरोपी को पकड़ लिया और स्थानीय पुलिस को सौंप दिया। आरोपी के खिलाफ ईशनिंदा से जुड़ी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

स्थानीय एसएसपी सरफराज नवाज ने बताया कि वलीद नाम के शख्स ने नयनपुरा स्थित नारायण मंदिर में एक मूर्ति तोड़ दी। जब वह मंदिर के अंदर ही था, तो लोग जमा हो गए, उसे पकड़कर उसकी पिटाई कर दी और फिर पुलिस को सौंप दिया। उन्होंने बताया है कि संदिग्ध को हिरासत में ले लिया गया। उसके पास से एक हथौड़ा बरामद किया गया है। वलीद के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है। भारतीय जनता पार्टी के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस घटना की निंदा करते हुए इसे अल्पसंख्यकों के खिलाफ सरकार समर्थित आतंक बताया है। उन्होंने कहा है कि रांचोर लाइन में एक और हिंदू मंदिर को तोड़ा गया। कराची पाकिस्तान के हमलावरों ने इस बर्बरता को यह कहते हुए उचित ठहराया कि मंदिर पूजा स्थल होने के योग्य नहीं है। सिरसा ने कहा है कि यह पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों के खिलाफ सरकार समर्थित आतंक है। पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों के पूजा स्थलों पर लगातार हमले होते रहे हैं।अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा नहीं करने के लिए पाकिस्तान को लगातार लताड़ा है।