कच्चे माल की बढ़ती कीमतों के विरोध में एमएसएमई करेंगे हड़ताल

नई दिल्ली : कच्चे माल की बढ़ती कीमतों के विरोध में एमएसएमई कारोबारी 20 दिसंबर को फैक्टरियों में एक दिन की हड़ताल करेंगे। हड़ताल से करीब 25,000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा। एमएसएमई से जुड़े 170 एसोसिएशन ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ एसोसिएशन ऑफ एमएसएमई (एआईसीए) की अगुवाई में इस दिन जिला मुख्यालयों/कलेक्टरेट पर प्रदर्शन कर कच्चे माल की कीमतों में कमी लाने के लिए सरकार से तत्काल हस्तक्षेप की मांग करेंगे। एआईसीए ने बुधवार को कहा कि अज्ञात कारणों से कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि जारी है। अप्रैल के मुकाबले अक्टूबर में स्टील, कॉपर, एल्युमिनियम एलॉय और अन्य कच्चे माल की कीमतों में डेढ़ से दोगुनी वृद्धि हुई है।

इससे पहले 24 अप्रैल, 2020 को रुपया इसी स्तर के करीब बंद हुआ था। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया कमजोरी के साथ 76.05 पर खुला। जानकारों का कहना है कि कोरोना के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के तेज प्रसार की आशंका से गिरावट आई।