दहेज की मांग पूरी ना होने पर ससुरालजनो ने नवविवाहिता को घर से निकाला

जसपुरा/बांदा। दहेज की मांग पूरी न करने पर ससुराल जनों ने 6 माह के अंदर नव विवाहिता को घर से निकाला जसपुरा थाना क्षेत्र के कस्बे के रहने वाले एक नवविवाहिता को ससुराल जनों द्वारा दहेज की मांग पूरी न करने पर घर से निकालने का आरोप लगा। आपको बता दें कि पूरा मामला जसपुरा कस्बे के अंतर्गत का है जहां के रहने वाली पूजा पत्नी मदन पुत्री सुरेश निवासी जसपुरा ने जसपुरा थाने में प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उसकी शादी हिंदू रीति रिवाज के अनुसार 21 जून 21 को मदन पुत्र बब्बू उर्फ शिव कुमार निवासी ग्राम न्यूरिया थाना बेवर जिला हमीरपुर के साथ संपन्न हुई थी पीड़िता के पिता अपनी हैसियत के अनुसार पति को दहेज में नगद 21000 गृहस्थी का लगभग 50000 का सोने चांदी के जेवरात देकर विवाह विदा किया था पीड़िता के ससुराल जाकर अपना पति धर्म का निर्वहन करते हुए ससुराल जाने की सेवा करती रही पीड़िता की प्रथम विदाई ससुराल जनों द्वारा अच्छी तरह किया पीड़िता की बहन अर्चना का विवाह पति मदन के बड़े भाई प्रेमचंद के साथ संपन्न हुआ है दोनों बहनों का विवाह एक साथ संपन्न कराया था पीड़िता के पिता ने दोनों बहनों के विवाह में मदन व प्रेमचंद की दहेज में अलग-अलग नगद धनराशि का सामग्री दोनों बहनों के विवाह में आए सभी रिश्तेदारों के खाना-पीना एवं स्वागत संस्कार में लगभग 100000 खर्च किए थे 10 दिन रहने के बाद अपने पिता के साथ मायके आ गई पीड़िता की बहन अर्चना अपने पिता के घर अपने ससुराल चली गई दूसरी सबसे बड़ा ससुर शिव प्रसाद पुत्र रामदीन सभी ससुराल जन एक राय होकर पीड़िता को दिमाग खराब का बहाना बताकर दहेज में 100000 व नगद एक मोटरसाइकिल की मांग करने लगे। पीड़िता ने सभी ससुराल जाने से कहा कि मेरे पिता ने अपनी मुताबिक दहेज में सब कुछ दे चुके हैं उनके पास देने के लिए कुछ भी नहीं बचा फिर भी बड़ा जेठ जेठानी एक होकर  गाली-गलौज मारपीट मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे। ससुराल जनों के द्वारा अतिरिक्त दहेज न देने की वजह से मारपीट कर घर से निकाल दिया था। पीड़िता ने किसी तरह से जान बचाकर पिता के घर आकर ससुरालजनो द्वारा किए गए कार्यों को बताया तब पीड़िता के पिता पति मदन के घर जाकर ससुरालजनों को अच्छी तरह से रखने हेतु कहां किंतु सभी ससुराल जनों ने पिता को अपमानित करके भगा दिया हैं। थाने में प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की थी। लेकिन पुलिस ने जांच कर कार्यवाही की बात कही जब पूरे मामले की जानकारी पीड़िता के ससुराल जनों से गई तो उनके द्वारा बताया गया कि हमें दहेज में कुछ भी नहीं दिया गया था और हमने 20000 इनके बीच वालो को दिए थे लड़की का मानसिक संतुलन सही नहीं है जब लड़की का संतुलन सही हो जाएगा तब ससुराल बुला लेंगे।