सीडीओ ने कौशल विकास मिशन एल.ई.डी. वैन को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

गोंडा । मुख्य विकास अधिकारी श्री शशांक त्रिपाठी ने आज विकास भवन से उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन प्रशिक्षण के प्रचार-प्रसार हेतु नुक्कड़ नाटक टोली व मोबाइल एल.ई.डी. वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि कौशल विकास मिशन द्वारा 14 वर्ष से 35 वर्ष आयुवर्ग के बेरोजगार प्रशिक्षित युवाओं को निःशुल्क कौशल प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण के उपरांत युवाओं को रोजगार दिलाने के भी प्रयास किए जा रहे हैं। प्रशिक्षण देने वाले संस्थाओं में सरकारी व निजी क्षेत्र के प्रशिक्षण प्रदाता सम्मिलित हैं। अनेक प्रमुख औद्योगिक प्रतिष्ठान  जिसमें रेमण्ड्स, फ्यूचर ग्रुप, राजस्थान स्पिनिंग एंड वीविंग मिल्स, सेफेक्स, वीएलसीसी आदि सम्मिलित हैं, के माध्यम से मिशन के साथ सूचीबद्ध प्रशिक्षण प्रदाताओं के माध्यम से युवाओं के लिए प्रशिक्षण सुविधा की व्यवस्था की गई है। भारत सरकार से नामित संस्थाओं द्वारा सफल परीक्षार्थियों को प्रमाण पत्र भी जारी किया जा रहा है। प्रमाण पत्र की मान्यता संपूर्ण देश में है। भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त कोर्सेस में प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है। युवाओं को अपनी रूचि के अनुसार कोर्स के चयन की स्वतंत्रता है। प्रशिक्षण की कोई फीस नहीं है। प्रशिक्षण अवधि में प्रशिक्षणार्थियों को दो सेट यूनिफॉर्म व  पाठ्यसामग्री भी निःशुल्क हैं। प्रशिक्षण की अवधि कोर्स के अनुसार है। ओ.डी.ओ.पी. उत्पादों के मूल्य संवर्धन हेतु कौशल प्रशिक्षण को प्राथमिकता दी जा रही है। परंपरागत शिल्पकारों के प्रमाणीकरण के लिए आर.पी.एल. पूर्वार्जित कौशल को मान्यता के अंतर्गत कौशल प्रशिक्षण का प्रावधान भी है।