पं०चंन्द्रकुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में फल-फूल रहा ब्राह्मण युवा एकता मंच

दुल्लहपुर/गाजीपुर। आपसी कटुता और उभरते मतभेद के बीच सामाजिक समरसता स्वजातीय प्रतिष्ठा, भाईचारा बनाने के उद्देश्य से स्थापित ब्राह्मण युवा एकता मंच की नई सोच नई पहल ने जहां अपने बुलंदी को छुआ है वही गांव की एकता और अखंडता में मील का पत्थर भी साबित हुआ है। जिसका उदाहरण क्षेत्र के खड़ौरा ब्राह्मण बस्ती में शुक्रवार को गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर श्री प्रकाश पांडेय के पैतृक आवास पर स्वस्थ एवं सुखी समाज की मंगल कामना करते हुए युवा ब्राह्मण एकता मंच के बैनर तले सुंदरकांड पाठ का संगीत मय आयोजन किया गया। तदुपरांत मंत्रोचार के साथ मानव मन की विकृतियों और कुंठाओं के शमन तथा लोगों की सद्बुद्धि के लिए हवन पूजन  भी  किया गया। साथ में आयोजक राजकुमार पाण्डेय द्वारा गंवई समरसता दीव्य स्नेह भोज जिसमें ( चावल दाल के साथ  बाटी चोखा शामिल था) कार्यक्रम में और गांव की एकता और अखंडता में चार चांद लगा दिया। गौरतलब हो कि गांव के चंद्र कुमार पांडेय (72) वर्षीय के अथक प्रयास से विगत 2 वर्षों से अनवरत और निर्बाध गति से साप्ताहिक सुंदरकांड का संगीतमय पाठ भक्ति और श्रद्धा के साथ चल रहा है जो अनिश्चितकालीन है। जिसको ब्राह्मण युवा एकता मंच का जहां समर्थन हासिल है वहीं गांव का संरक्षण भी हासिल है।