नस्लवाद मामले में कुत्ते नाम को लेकर विवादों में फंसे एलेक्स हेल्स, इन आरोपों से किया इनकार

इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज एलेक्स हेल्स ने इन आरोपों से इनकार किया है कि उन्होंने अपने कुत्ते का नाम रखते हुए नस्लवाद से संबंधित शब्द का इस्तेमाल किया। अजीम रफीक ने आरोप लगाया था कि यॉर्कशर टीम के उनके पूर्व साथी गैरी बैलेंस इस नाम का इस्तेमाल उन खिलाड़ियों के लिए करते थे जो श्वेत नहीं थे। रफीक ने मंगलवार को डिजिटल, संस्कृति, मीडिया और खेल समिति (डीसीएमएस) में शामिल ब्रिटेन के संसद सदस्यों के समक्ष विस्तार से यॉर्कशर काउंटी में अपने नस्लवाद और भेदभाव के अनुभवों को शेयर किया।

उन्होंने दावा किया कि इंग्लैंड के इंटरनेशनल खिलाड़ी बैलेंस 'केविन' नाम का इस्तेमाल 'अपमानजनक' शब्द के रूप में उन खिलाड़ियों के संदर्भ में करते थे जो श्वेत नहीं थे। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड के ड्रेसिंग रूम में सभी को इसकी जानकारी है। रफीक ने कहा कि हेल्स ने अपने कुत्ते का नाम 'केविन' रखा क्योंकि वह काला था। हेल्स ने बयान में कहा, ''मैंने अपने खिलाफ लगाए आरोपों को सुना, मैं इसे सिरे से खारिज करता हूं कि मेरे कुत्ते का नाम रखे जाने का नस्लवादी शब्द से कोई संबंध है।''

उन्होंने कहा, ''अजीम रफीक ने जो रुख अपनाया और उन्हें जिन चीजों का सामना करना पड़ रहा है उसका मैं सम्मान करता हूं और मेरी सहानुभूति उसके साथ है। क्रिकेट में किसी भी तरह से नस्लवाद या भेदभाव की कोई जगह नहीं है और खेल से जुड़े अधिकारी अगर किसी भी तरह की जांच करने का फैसला करते हैं तो मैं खुशी से सहयोग करूंगा।'' हेल्स के काउंटी क्लब नॉटिंघमशर ने भी बयान जारी करके कहा कि इस बल्लेबाज से जुड़े रफीक के खुलासे के बाद उचित आंतरिक प्रक्रिया शुरू कर दी है।