आतंकवादी हमलों की साजिश विफल, दिल्ली से पाकिस्तानी आतंकवादी मो अशरफ गिरफ्तार

दिल्ली : भारत में आतंकवादी हमलों की साजिश रचने वाले एक पाकिस्तानी आतंकवादी को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। पटियाला हाउस कोर्ट ने उसे 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बताया कि पाकिस्तानी आतंकवादियों के स्लीपर सेल के प्रमुख मोहम्मद अशरफ को सोमवार की रात को 9.30 बजे के करीब गिरफ्तार किया. मंगलवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मीडिया को यह जानकारी दी। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने मीडिया को बताया कि मोहम्मद अशरफ नाम का आतंकवादी भारत में डेढ़ दशक यानी 15 साल से दिल्ली में रह रहा था। शुरुआती जांच में पता चला है कि वह स्लीपर सेल का प्रमुख था। भारत में लोन वूल्फ अटैक की साजिश रच रहा था। प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि पाकिस्तान के अपने आकाओं के इशारे पर मोहम्मद अशरफ साजिशें रच रहा था. पूछताछ में उसने बताया है कि जम्मू-कश्मीर समेत कई आतंकवादी गतिविधियों में वह शामिल रहा है. देश के अन्य हिस्सों में भी भारत के खिलाफ साजिश रचने में जुटा रहा है. बाद में उसे आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने की जिम्मेवारी पाकिस्तान स्थित उसके आकाओं ने दी। स्पेशल सेल के डीसीपी ने कहा है कि उसके साथियों की पहचान करने की कोशिश की जा रही है. प्रमोद कुशवाहा ने कहा कि 15 साल से भारत में रहने वाले इस आतंकवादी ने यहीं पर शादी भी कर ली थी. हालांकि, उसकी पत्नी अब उसके साथ नहीं रहती. भारत आने के बाद से वह लगातार अपने पाकिस्तानी आकाओं के संपर्क में था. आतंकी अशरफ उर्फ नूरी पाकिस्तान के आकाओं को यहां से सारी जानकारी भेज रहा था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी ने कहा है कि पूछताछ अशरफ कई जानकारियां छिपा रहा है. मंगलवार को ही उसे कोर्ट में पेश किया जायेगा, उन्होंने बताया कि बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में जुटे अशरफ के पास से हथियार तथा भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद हुए हैं. इसके पास से एके-47 राइफल, एक मैगजीन, 60 राउंड कारतूस, एक हथगोला, 2 अत्याधुनिक पिस्टल एवं 50 राउंड कारतूस बरामद हुए हैं। मोहम्मद अशरफ उर्फ अली पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रहने वाला है। फर्जी दस्तावेजों की मदद से उसने भारतीय पहचान पत्र हासिल कर लिया था. अशरफ को गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम, विस्फोटक अधिनियम और शस्त्र अधिनियम के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी ने बताया कि लंबे अरसे से फर्जी आईडी के साथ भारत में रह रहा था. स्पीलर सेल की तरह काम करने वाले अशरफ आईएसआई के इशारे पर काम कर रहा था. अशरफ बांग्लादेश के रास्ते से भारत पहुंचा था. सिलीगुड़ी होते हुए वह दिल्ली पहुंचा था. कई आतंकवादी गतिविधियों में शामिल रहा. उसने भारत का पासपोर्ट भी बनवा रखा है, भारतीय पासपोर्ट पर उसने दुबई और थाइलैंड की यात्री की, स्पेशल सेल ने बताया कि मोहम्मद अशरफ ने गाजियाबाद की किसी लड़की से शादी भी कर ली थी. 40 साल का यह शख्स दिल्ली-एनसीआर में पीर-मौलाना बनकर झाड़-फूंक का काम करता था. बताया गया है कि मोहम्मद अशरफ ने सबसे पहले बिहार की एक आईडी बनवायी थी. उसी के आधार पर बाकी के कागजात बनवाने में उसको मदद मिली. पिछले 10 सालों के दौरान इसने कई अलग-अलग आईडी बना ली थी।