विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं में व्यक्तिगत रूचि ले अधिकारी-समाज कल्याण मंत्री

गोंडा । प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री श्री रमापति शास्त्री ने शुक्रवार को सर्किट हाउस सभागार में डीएम मार्कण्डेय शाही,एसपी संतोष कुमार मिश्रा तथा सीडीओ शशांक त्रिपाठी की मौजूदगी में प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विकास कार्यक्रमों, प्रमुख जनकल्याणकारी, लाभार्थीपरक योजनाओं एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा किया ।बैठक में मा0 मंत्री जी द्वारा सबसे पहले विद्युत विभाग की समीक्षा की गई जिसमें उन्होंने विद्युत आपूर्ति रोस्टर के बारे में जानकारी ली। चीफ इंजीनियर विद्युत द्वारा बताया गया कि रोस्टर कम करते हुए जनपद मुख्यालय पर 23.19 घंटे, तहसील मुख्यालय पर 20.05 घंटे तथा ग्रामीण क्षेत्र में 16.53 घंटे की विद्युत आपूर्ति की जा रही है। पेयजल परियोजनाओं में विद्युत संयोजन तथा ट्रांसफार्मर की समीक्षा में निर्देश दिए कि जो भी पेयजल योजनाएं विद्युत संयोजन के लिए लंबित हैं वहां पर एक सप्ताह के अन्दर विद्युत कनेक्शन कराकर परियोजनाएं चालू कर दी जाएं। चीफ इंजीनियर द्वारा बताया गया कि जिले में देवा परसिया, गद्दौपुर, सहरिया कला, बैरी महेशपुर में विद्युत संयोजन के लिए लंबित हैं। इसी प्रकार भोपतपुर में नलकूप संचालन के लिए विद्युत कनेक्शन कराया जाना है। रीवैम्प योजना तहत प्रस्तावों के लिए अति शीघ्र डीपीआर भेजने के निर्देश दिए। खराब ट्रांसफार्मरों के बदले जाने की समीक्षा में निर्देश दिए कि मानक अनुरूप निर्धारित समय सीमा में ट्रांसफार्मर बदले जाएं।

समाज कल्याण व अन्य लाभार्थीपरक योजनाओं जैसे वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन, दिव्यांग पेंशन, पारिवारिक लाभ योजना, कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, रानी लक्ष्मी बाई महिला सम्मान कोष योजना, छात्रवृत्ति योजनाओं की विभागवार समीक्षा में निर्देश दिए कि सभी अधिकारी व्यक्तिगत रूचि लेते हुए प्राप्त आवेदनों को शीघ्रातिशीघ्र निस्तारित करे। बैठक में समाज कल्याण मंत्री के प्रतिनिधि वेद प्रकाश दूबे सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।