भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी

नई दिल्ली : निवेशकों की मुनाफावसूली की वजह से भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी है। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 456.09 अंक यानी 0.74 प्रतिशत की गिरावट के साथ 61,259.96 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 152.15 अंक यानी 0.83 प्रतिशत टूटकर 18,266.60 अंक पर बंद हुआ। ये लगातार दूसरा दिन है जब शेयर बाजार में बिकवाली का माहौल है।

किस शेयर में कितनी गिरावट: सेंसेक्स के शेयरों में टाइटन करीब तीन प्रतिशत की गिरावट के साथ सर्वाधिक नुकसान में रहा। इसके अलावा एचयूएल, एनटीपीसी, बजाज फिनसर्व, एलएंडटी और पावरग्रिड प्रमुख रूप से नुकसान में रहे। दूसरी तरफ, लाभ में रहने वाले शेयरों में भारती एयरटेल, एसबीआई, इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस और एक्सिस बैंक शामिल हैं।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट: एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, ‘‘जिन शेयरों में गिरावट आयी है, वह युक्तिसंगत है। क्योंकि मूल्य काफी चढ़ गया था।’’ हालांकि, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में तेजी रही।  एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग, जापान का निक्की लाभ में रहे, जबकि चीन के शंघाई कम्पोजिट और दक्षिण कोरिया के कॉस्पी में गिरावट रही।

मंगलवार का हाल

मुनाफावसूली से शेयर बाजारों में सात कारोबारी सत्रों से जारी तेजी का सिलसिला मंगलवार को थम गया। बाजार के रिकॉर्ड उच्चस्तर पर होने के बीच निवेशकों ने मुनाफा काटा, जिससे सेंसेक्स करीब 50 अंक टूट गया। सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान 62,245.43 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर तक गया। हालांकि, अंत में यह 49.54 अंक के नुकसान से 61,716.05 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह निफ्टी 58.30 अंक के नुकसान से 18,418.75 अंक पर आ गया। दिन में कारोबार के दौरान इसने 18,604.45 अंक के अपने रिकॉर्ड स्तर को छुआ।

सेंसेक्स की कंपनियों में आईटीसी का शेयर सबसे अधिक छह प्रतिशत टूट गया। हिंदुस्तान यूनिलीवर, टाइटन, टाटा स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट और पावरग्रिड के शेयर भी नुकसान में रहे। वहीं दूसरी ओर टेक महिंद्रा, एलएंडटी, इन्फोसिस, बजाज फिनसर्व, कोटक बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में लाभ रहा।