अखिलेश यादव से मिलकर कार्यकर्ताओं ने दी विजयदशमी की बधाई

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलकर आज सैकड़ों कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों के अतिरिक्त बड़ी संख्या में आए व्यापारियों, अधिवक्ताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं सहित महिलाओं, अल्पसंख्यकों तथा कई किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी मुलाकात कर विजयदशमी की बधाई दी। श्री यादव ने उनको धन्यवाद देते हुए याद दिलाया कि अब चंद महीने बाद ही प्रदेश की जनता को अपना भाग्य निर्णय का अधिकार मिलेगा। लोकतंत्र पर आए संकट को देखते हुए वोट से अहिंसक परिवर्तन की नयी मंजिल तय करनी है। एकत्र समूह ने एक स्वर में कहा कि इस बार जनता समाजवादी पार्टी को ही बहुमत दिलाएगी। वे अखिलेश जी पर ही भरोसा करते हैं। राजपुरोहित पं0 हरि प्रसाद मिश्रा ने विजयदशमी पर अखिलेश यादव को ‘विजयी भव‘ का आशीर्वाद दिया और रक्षा सूत्र बांधा। उन्होंने कहा समय, परिस्थतियां ग्रह-नक्षत्र सब अखिलेश के अनुकूल हैं। वे ही मुख्यमंत्री बनेंगे। अखिलेश यादव ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि विजयदशमी का पर्व अधर्म पर धर्म और अन्याय पर न्याय का संदेश देता है। यह सबक भी मिलता है कि अहंकार और अत्याचार का परिणाम सदैव बुरा होता है। यह भी सुनिश्चित है कि बुराई और असत्य के मुकाबले हमेशा सत्य की जीत होती है और असत्य पराजित होता है। हमें इसलिए अपने आचरण में सद्भाव को बढ़ावा देना चाहिए। अखिलेश यादव ने कहा कि आज समाज संक्रमण के दौर से गुजर रहा है। संकीर्ण मानसिकता के चलते आपसी सौहार्द बिगड़ रहा है। अधिनायकशाही सोच से सत्ता असहमति की आवाज का दमन कर रही है। भाजपा सरकार की नीति और नीयत विभाजनकारी है। लोकतंत्र और सामाजिक समरता को कमजोर करना ही भाजपा का मूल एजेंडा है। जनता के हित में भाजपा सरकार की नीतियां पूरी तरह विफल है। इस अवसर पर उपस्थित लोगों ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता की खुशहाली और समृद्धि समाजवादी पार्टी की सरकार में ही सम्भव है। समाजवादी पार्टी की प्रतिबद्धता विकास और समाजवाद के प्रति है। अपनी पिछली समाजवादी सरकार में जो काम हुए वे आज भी बोलते हैं। 2022 विधानसभा चुनाव के लिये जनता का समर्थन समाजवादी पार्टी के साथ है।