सचमुच का बिग बॉस

 सोफे पर मिस्टर वर्मा-मिसेज वर्मा बैठे हैं। सामाजिक दूरी बनाए हुए। टी.वी. रिमोट के लिए दोनों की बहस आरंभिक दशा में है। मिसेज वर्मा ने कहा, रिमोट देते हो, या फिर टी.वी. बंद कर दूँ? अरे भाग्यवान तुमसे दुश्मनी मोल लेकर अपनी मौत थोड़ी न बुलानी है। बताओ कौनसा चैनल लगाऊँ, मिस्टर वर्मा ने कहा। तब से कह रही हूँ कि 305 नंबर वाला चैनल लगाओ। आप हैं कि तीन-पाँच कर रहे हैं। बार-बार दो सौ पाँच लगाए जा रहे हैं। मुझे मालूम है आप वह चैनल क्यों लगा रहे हैं। उसमें मेरी सौतन जो बैठी है। उसे नहीं देखेंगे तो मुझे देखेंगे, मिसेज वर्मा ने आँखें दिखाते हुए कहा।  

इससे पहले कि दोनों की बहस छींटाकशी से मूसलाधार में बदलती तभी वहाँ पड़ोसी राजन आ पहुँचा। उसने दोनों को नमस्ते किया और सिंगल सोफे पर बैठ गया। पति कुछ पूछता मिसेज वर्मा बीच में कूद पड़ी, क्यों भाई साहब! आज यहाँ का रास्ता कैसे भूल गए।? वह कुछ कहना ही चाहता था कि मिसेज वर्मा बोल उठी है, मुझे पता है भाई साहब आपका टी.वी. जवाब दे चुका है। राजन कुछ कहता मिसेज वर्मा फिर से अपनी मंडूक कूद जारी रखते हुए बोली, भाई साहब जब तक मोबाइल लो बैटरी और टी.वी. खराब न हो जाए तब तक तब कौन अपनी मुंडी उठाए इधर-उधर देखता है। अब घरों में दीवारों की जरूरत नहीं है, इसका काम मोबाइल और टी.वी. बखूबी कर रहे हैं। राजन को लगा मिसेज वर्मा की बातों के गोले अचानक होने वाली बमबारी से भी खतरनाक हैं।

राजन ध्यान भटकाने के लिए दोनों से कहने लगा, लगता है आप लोग सीरियल देख रहे हैं। कहीं डिस्टर्ब तो नहीं किया न? नहीं-नहीं ऐसी कोई बात नहीं है। वैसे भी सीरियल देखने की हमारे घर भर में किसी को आदत नहीं है। एक बार के लिए आदमी बिहार की बाढ़ से बच सकता है, लेकिन ये डेली सोप सीरियल के रोने-धोने वाली बरसात से कतई नहीं। हम केवल रियालटी शो देखते हैं। पति ने नए ट्रेंड सेट्टर की तरह अपनी बात रखते हुए उसमें अकड़ का तड़का लगाया। अच्छा तो आप बिग बॉस देख...। राजन की बात पूरी होती उससे पहले ही मिसेज वर्मा पति से बोल उठी, अरे 305 वाला चैनल लगाओ। पति ने वैसा ही किया। चैनल में दिलचस्प सीन चल रहा था। मिस्टर शर्मा थकाहारा घर आया। मिसेज शर्मा ने कहा, इतनी देर कहाँ थे आप। किसके साथ नैन-मटक्का कर रहे थे। दोनों की बहस जारी थी। मिसेज वर्मा अपने पति से बोल उठी, क्यों जी आप तो कहते थे कि मिसेज शर्मा मेरी तरह कतई शक नहीं करती। अब क्या पति की पूजा कर रही हैं? मिस्टर वर्मा कुछ कहते पत्नी बोल उठी, ठीक है-ठीक है, जी 3 लगाओ। पति ने जी 3 लगाय। चैनल पर मिस्टर खन्ना अपनी पत्नी को उपहार दे रहे थे।

यह सब देख राजन भौंचक्का रह गया। यह सब उसकी समझ से परे था। उसने पूछा, 305, जी 3 ये कैसे चैनल हैं? हमारे यहाँ तो ऐसे कोई चैनल नहीं आते। मिस्टर वर्मा ने कहा, अरे भाई हमारे अपार्टमेंट का नाम है – रियालिटी अपार्टमेंट। यहाँ सब कुछ रियल होता है। 305 का मतलब तीसरे तल्ले का पाँचवाँ मकान और जी 3 का मतलब है ग्राउंड फ्लोर का तीसर मकान। यह सुन राजन कहा, आप लोगों को अजीब नहीं लगता अपने ही अपार्टमेंट के अलग-अलग परिवारों के जिंदगियों में ताक-झांक करते हुए? इस पर मिसेज वर्मा ने कहा, भाई साहब बिग बॉस में कौन क्या कर रहा है, किसका किसके साथ कनेक्शन है, कौन किससे क्या कह रहा है यह सब जानने के लिए रात-रात भर जागकर अपना टाइम बर्बाद करते हो। वह भी उनके लिए जिनका आपसे कोई लेना देना नहीं है। तब तो मैंने आपसे कोई सवाल नहीं किया था। यहाँ तो हमारे अपार्टमेंट वालों ने आपसी सहमति से फ्लोर और हॉल में सीसीटीवी लगवा लिया है। इससे हमारे बारे में उन्हें और उनके बारे में हमें पता चलता है। हम सच का रियालिटी शो देखते हैं, झूठमूठ का नहीं। इसमें मजा भी आता है और उत्सुकता भी बनी रहती है। यह सब सुन राजन अवाक् रह गया।              

डॉ. सुरेश कुमार मिश्रा ‘उरतृप्त’, चरवाणीः 7386578657