प्रोटोकॉल के साथ मना दशहरा, कम दिखी भीड़

लखनऊ। रामलीला मैदान में विजय दशमी के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को पूरे प्रोटोकॉल के साथ मनाया गया। ऐशबाग रामलीला समिति मैदान में 121 फिट की जगह 80 फीट के रावण के पुतला का दहन हुआ। इस अवसर पर समारोह के मुख्य अतिथि उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा, कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक, आशुतोष टंडन गोपाल मौजूद रहे। आम जनता ने रावण दहन का कार्यक्रम रात 8 बजे से ऐशबाग रामलीला ग्राउंड की वेबसाइट पर देखा। दशहरा पर्व पर आम दिनों में तो दो दर्जन स्थानों पर रामलीला का आयोजन होता सदियों से चला आ रहा है लेकिन गत वर्ष से कोविड़ महामारी ने रामलीला के मंचन पर ही विराम लगा दिया। इस साल नवरात्र के पहले दिन से राजधानी में प्रमुख स्थानों पर ऐशबागॉ राजाजीपुरमॉ ड़ालीगंजॉ खदराॉ महानगरॉ चौक में बाल रामलीला का मंचन तो कराया गया लेकिन कोविड 19 के सख्त नियमों के चलते सिर्फ खानापूर्ति तक सीमित होकर रह गयी है। श्री राम लीला समिति के सचिव पं. आदित्य द्विवेदी बताया कि कोरोना के कारण सरकार की गाइड लाइन के अनुसार कार्यक्रम कराया जाएगा। इस बार कुंभकर्ण व मेघनाद के पुतले नहीं जलाए गए। दर्शकों ने रावण दहन का कार्यक्रम श्रीरामलीला समिति ऐशबाग के फेसबुक और यूदृटयूब पर ऑनलाइन देखा। समिति के अध्यक्ष हरीश चन्द्र अग्रवाल ने बताया कि इस बार रावण के पुतले का कद 121 फिट से घटाकर मात्र 80 फीट था।