बिक गई सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया, क्या होगा कर्मचारियों की नौकरी का ?

नई दिल्ली : केंद्र सरकार की लंबी मशक्कत के बाद सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया बिक गई है। कर्ज के बोझ तले दबी इस एयरलाइल कंपनी की कमान अब टाटा समूह के हाथों में है। टाटा समूह की कंपनी टाटा संस ने 18 हजार करोड़ रुपए में एयर इंडिया की बिड जीती है। ऐसा माना जा रहा है कि दिसंबर तक डील की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। अब सवाल है कि आखिर एयर इंडिया के कर्मचारियों की नौकरी का क्या होगा। क्या कर्मचारियों की छंटनी होगी, या फिर वीआरएस दिया जाएगा। आइए इन सवालों के जवाब भी जान लेते हैं। 

क्या होगा कर्मचारियों का : नागर विमानन मंत्रालय के सचिव राजीव बंसल के मुताबिक आज की तारीख में एयर इंडिया में 12,085 कर्मचारी हैं। इनमें से 8,084 स्थायी कर्मचारी हैं और 4,001 कर्मी कॉन्ट्रैक्ट पर हैं। इसके अलावा एयर इंडिया एक्सप्रेस में 1434 कर्मचारी हैं। अगले 1 साल तक कर्मचारियों की छंटनी नहीं होगी। मतलब अगले एक साल तक किसी भी कर्मचारी की नौकरी नहीं जाएगी।

देना होगा वीआरएस: अगर एक साल के बाद छंटनी होती है तो कर्मचारी को स्‍वैच्छिक सेवानिवृत्ति स्‍कीम (वीआरएस) देना होगा। कर्मचारियों और सेवानिवृत्त कर्मचारियों के हितों का पूरा ध्यान रखा जाएगा। इसमें पीएफ, ग्रेच्युटी आदि सबकुछ एक समान होगा। किसी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा। रिटायरमेंट के बाद मिलने वाली मेडिकल सुविधाएं भी बरकरार रहेंगी।

ये भी हैं शर्तें: एयर इंडिया के ब्रान्ड्स में आठ लोगो हैं जो नए बोलीदाता को सौंपे जाएंगे। इसे पांच साल की अवधि के लिए स्थानांतरित नहीं किए जा सकते। 5 साल की अवधि के बाद भी, इसे किसी विदेशी संस्था में स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है।