त्योहारों में साइबर ठग सेंध लगाने को तैयार, ये है बचने के उपाय

नई दिल्ली : त्योहारी सीजन में लोग जमकर ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं। हालांकि, इसके साथ ही ऑनलाइन धोखाधड़ी में उछाल आ गया है। साइबर ठग डेबिट, क्रेडिट कार्ड, ऑनलाइन बैंकिंग में सेंध लगाकर फर्जीवाड़े को अंजाम दे रहे हैं। इससे हाल के दिनों में साइबर धोखाधड़ी में तेजी से वृद्धि हुई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, ऑनलाइन कार्ड धोखाधड़ी से होने वाला नुकसान इस साल के अंत तक लगभग आठ अरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 2019 में लगभग छह अरब डॉलर था। आइए जानते हैं कि ऑनलाइन धोखाधड़ी से कैसे बचें।

इस तरह साइबर धोखाधड़ी से बचें

क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन खरीदारी करें लेकिन कभी भी ऐसे ऑनलाइन विक्रेताओं से कुछ भी न खरीदें जो केवल उपहार कार्ड, मनी ट्रांसफर या क्रिप्टोकरेंसी द्वारा भुगतान स्वीकार करते हैं। इनमें फर्जीवाड़े की संभवना अधिक होती है क्योंकि अपराधी अक्सर लोगों को उन तरीकों का उपयोग करने के लिए कहते हैं ताकि वे जल्दी से नकद प्राप्त कर सकें।

किसी भी नए वेबसाइट से खरीदने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी जुटा लें। इसके साथ ही उसपर विक्रेता के सामान के विवरण को ध्यान से पढ़ें। यदि विक्रेता भारी छूट पर किसी खास ब्रांड की पेशकश करता है तो वह नकली हो सकता है।

डेबिट कार्ड से ऑनलाइन खरीदारी से बचें। ऐसा इसलिए कि अगर आपके कार्ड से छेड़छाड़ की जाती है, तो सीधे आपके बैंक खाते से धनराशि ले ली जाती है। इसमें आको बड़ा नुकसान होने का खतरा हो सकता है।

-किसी अंजान लिंक पर क्लिक नहीं करें। ऑनलाइन धोखाधड़ी करने वाले इस तकनीक का इस्तेमाल बहुत करते हैं।

फोन पर या ई-मेल पर अक्सर लॉटरी जीतने या फिर आपके एटीएम या क्रेडिट कार्ड से खरीदारी के मैसेज आते हैं और साथ में एक लिंक पर क्लिक करने की बात कही जाती है। ये साइबर ठग का काम होता है। किसी भी अनजाने लिंक को क्लिक नहीं करें या कोई अपनी वित्तीय जानकारी साझा नहीं करें।