लखीमपुर कांड में बीजेपी के दो मंत्रियों की संलिप्तता की वजह से सही जांच हो पाना संभव नहीं: मायावती

लखनऊ। लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में अब तक 9 लोगों की जान जा चुकी है। इसमें किसान भी शामिल हैं। इस घटना को लेकर सियासत गरमा गई है। विपक्षी दलों के नेता प्रदेश की योगी सरकार पर हमलावर हैं। इस बीच बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती का बड़ा बयान सामने आया है। बसपा सु्प्रीमो ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि भाजपा सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी कांड में बीजेपी के दो मंत्रियों की संलिप्तता के कारण घटना की सही जांच हो पाएगी, मुझे ऐसा नहीं लगता है। 

मायावती ने इस घटना की न्यायिक जांच की मांग की है। बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट किया, बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सांसद एससी मिश्र को कल देर रात यहां लखनऊ में उनके निवास पर नजरबंद कर दिया गया जो अभी भी जारी ताकि उनके नेतृत्व में पार्टी का प्रतिनिधिमण्डल लखीमपुर खीरी जाकर किसान हत्याकाण्ड की सही रिपोर्ट न प्राप्त कर सके। यह अति-दुःखद व निन्दनीय। 

लखीमपुर की घटना पर बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने सीएम योगी को लिखा पत्र, की ये मांगलखीमपुर की घटना पर बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने सीएम योगी को लिखा पत्र, की ये मांग मायावती ने अपने अगले ट्वीट में कहा, यूपी के दुःखद खीरी कांड में भाजपा के दो मंत्रियों की संलिप्तता के कारण इस घटना की सही सरकारी जाँच व पीड़ितों के साथ न्याय तथा दोषियों को सख्त सजा संभव नहीं लगती है। इसलिए इस घटना की, जिसमें अब तक 8 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है, न्यायिक जांच जरूरी, बीएसपी की मांग।