विश्व एनेस्थीसिया दिवस पर डॉ सुजीत सिंह को किया गया सम्मानित।

मऊ जनपद में आज शारदा नारायन हास्पिटल में 16 अक्टूबर को विश्व निश्चेतक (एनेस्थिसिया) दिवस केक काट कर मनाया गया। इस अवसर पर शारदा नारायन हास्पिटल के वरिष्ठ चिकित्सक व रोटरी क्लब मऊ के अध्यक्ष डा0 संजय सिंह ने शारदा नारायन हास्पिटल के क्रिटिलक केयर स्पेस्यिलिस्ट व एनेस्थिटिक डा0 सुजीत सिंह को बुके देकर सम्मानित किये तथा इस अवसर पर बोलते हुए डा0 संजय सिंह ने कहा कि आज बेहोशी के चिकित्सको के कारण ही इतनी बडी बडी सर्जरी संभव हो सकी है, तथा इसका प्रमाण डा0 सुजीत सिंह ने मऊ के लिये दिया है जिनके प्रयास से न्यूरो,आर्थाे,जनरल कि बहुत बड़ी बड़ी सर्जरीयॉ शारदा नारायन हास्पिटल में किया गया है। डा0 सिंह ने कहा कि एनेस्थिटिक के विकास के कारण ही पूरे चिकित्सा जगत का विकास संभव हो पाया और अनगिनत लोगो की जाने प्रत्येक वर्ष बचायी जाती है । 

आगे डा0 सुजीत सिंह ने कहा कि 16 अक्टूबर 1846 के दिन र्मोटन नामक डाक्टर ने सबसे पहले इथर एनेस्थिसिया को सबके सामने प्रस्तुत किया था तब से लेकर आज तक इस क्षेत्र में नित्य नये विकास हुआ ,जिससे पूरे चिकित्सा जगत का विकास हुआ है। आगे डा0 सुजीत सिंह ने कहा कि वास्तव में मरीज को बेहोश करना फिर बेहोशी से वापस लाना काफी चैलेजिंग व जिम्मेदारी का काम है अतः आज के दिन को मनाने का मुख्य कारण यही है कि हम इनके कार्याे के महत्व समझें। इस अवसर पर डा0 रूपेश के0 सिंह,डा0 राहुल कुमार,डा0 गौतम कुमार,डा0 गुलाम ,डा सतीश, मनीष , शिवकुमार,हामिद आदि लोग उपस्थित रहें।