चारों किसानों के शवों का हुआ पोस्टमार्टम, नहीं लगी गोली

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के जनपद लखीमपुर खीरी में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की गाड़ी से कुचलकर चार किसानों की मौत के बाद सभी का अंतिम संस्कार कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कराया गया।इससे पहले सभी शवों का डॉक्टरों के पैनल द्वारा पोस्टमॉर्टम कराया गया। मिली जानकारी के मुताबिक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किसी की भी मौत गोली लगने से नहीं हुई। सभी की मौत शॉक, ब्रेन हेमरेज और अधिक रक्तस्राव के वजह से हुई है। लखीमपुर के तिकोनिया में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के ऊपर किसानों की हत्या का आरोप लगा है। आशीष के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर ली गई है।किसानों ने आरोप लगाया कि आशीष मिश्रा ने विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ा दी, जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई। आशीष मिश्रा ने इन आरोपों से इनकार किया है।आशीष ने उल्टा आरोप लगाया है कि कुछ उपद्रवी तत्वों ने बीजेपी के समर्थकों के ऊपर हमला किया, जिसमें उनकी गाड़ी के ड्राइवर समेत 4 लोगों की मौत हो गई। मृतक किसानों में दलजीत सिंह 32 पुत्र हरजीत सिंह व गुरविंदर सिंह 20 पुत्र सतविंदर सिंह निवासी नानपारा जिला बहराइच, लवप्रीत सिंह 24 पुत्र सतनाम सिंह निवासी चौखड़ा फार्म मझगाई थाना पलिया जिला खीरी और नछत्तर सिंह 60 पुत्र निवासी रामनगर लहबड़ी थाना धौरहरा जिला खीरी हैं। वही बीजेपी के कार्यकर्ता हरिओम निवासी परसेहरा थाना फरधान खीरी को आशीष मिश्रा का ड्राइवर था,श्याम सुंदर पुत्र बालक राम निवासी सिंघहाकला सिंगाही जिला खीरी ,शुभम मिश्रा निवासी शिवपुरी लखीमपुर जिला खीरी और पत्रकार रमन कश्यप निवासी निघासन जिला खीरी की मौत हुई है।दूसरी ओर घायलों में गुरुनाम सिंह, मेजर सिंह व साहब सिंह निवासी नानपारा,संदीप सिंह निवासी मांझा फार्म,प्रभजीत चौखडा फार्म,शमशेर सिंह निवासी बैरिया फार्म और तजिंदर सिंह निवासी तराई किसान संगठन शामिल हैं।