योगी सरकार में योजनाओं ने पकड़ी रफ्तार: हरदीप पुरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद से ही केंद्रीय योजनाओं ने रफ्तार पकड़ी। विकास की रफ्तार तेज हुई और रोजगार के अवसर पैदा हुए। मेट्रो का भी सबसे ज्यादा जाल योगी सरकार में ही बिछाया गया। यह दावा केंद्रीय आवास एघ्वं शहरी कार्य और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप पुरी ने किया है। वे आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘न्यू अर्बन इंडिया’ कार्यक्रम की शुरुआत के सिलसिले में लखनऊ आये। उन्होंने कहा कि वर्ष 2015 में जब दूसरे दल की सरकार थी तो प्रदेश में सिर्फ 20 हजार प्रधानमंत्री आवास योजना का लक्ष्य पूरा हुआ था। योगी सरकार ने इसे 20 लाख तक पहुंचाया है। इसमें 11 लाख मकान बन गए हैं और 8 लाख मकान बांटे जा चुके हैं। यूपी देश में प्रधानमंत्री आवास योजना में दूसरे नंबर पर है। उन्होंने कहा कि चाहे उज्जवला कनेक्शन देने की बात हो या फिर हवाई अड्डे बनाने की योजना। हर योजना में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में तेज रफ्तार से काम हुआ है। वर्ष 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनी तो उत्तर प्रदेश में दो एयरपोर्ट ही चालू थे। अब प्रदेश में 8 एयरपोर्ट हैं। अयोध्या में जल्द एयरपोर्ट बनकर तैयार हो जाएगा। आगरा मेट्रो का निर्माण वर्ष 2024 में पूरा हो जाएगा और कानपुर मेट्रो का उद्घाटन इसी दिसंबर में किया जाएगा। यूपी में मेट्रो 82 किमी है। इसमें से योगी सरकार ने 67 किमी चालू किया, 131 किमी मेट्रो बनाई जा रही है। इसमें 82 किमी दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल मार्ग है। यह जून 2025 में बनकर तैयार हो जाएगा। 2014 में सिर्फ 14 करोड़ कनेक्शन थे, गैस कनेक्शनों की संख्या 29 करोड़ है। एक करोड़ कनेक्शन तो उज्जवला-0.2 में दिए जा रहे हैं। 75 लाख कनेक्शन बांटे भी जा चुके हैं। पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत साल में तीन रिफिल गैस सिलेंडर मुफ्त में दिए जा रहे है। लखनऊ में पीएनजी गैस कनेक्शन का काम तेज किया जाएगा। देश में 35 हजार किमी गैस पाइल लाइन बिछाने का टारगेट है। इसमें से 22 हजार किमी बना दिया गया है। करीब 4000किमी इसी वित्तीय वर्ष में और हो जाएगी। यूपी में रिटेल आउट लेट 2014 को 6043 थे, योगी की सरकार बनी तो 7111 रिटेल आउटलेट थे। अब 9011 हो गए हैं। यह 33 फीसदी बढ़ गया है। यूपी में सीएनजी स्टेशन वर्ष 2017 में 115 थे और अब 502 हो गए हैं।