राजधानी समेत प्रदेश के कई इलाकों में झमाझम बारिश, सड़कों पर तालाब जैसा नजारा

लखनंऊ। राजधानी समेत प्रदेश में कहीं तेज तो कहीं पर मध्यम बारिश हुई। कुछ जगहों पर भारी बारिश भी हुई। शुक्रवार को दोपहर बारह बजे बादलों की गड़गड़ाहट के साथ राजधानी में तेज बारिश शुरू हुई। जो शाम साढ़े चार बजे तक होती रही है। इस दौरान बादलों और बिजली की गड़गड़ाहट होती रही। करीब डेढ़ घंटे तक राजधानी में हुई तेज बारिश से शहर पूरी तरह से तरबतर हो गया। किसी जगह पर प्रमुख मार्ग पर तालाब जैसा नजारा रहा, तो कुछ जगहों पर घरों में घुटने तक पानी भर गया। शापिंग माल और पुलिस थाने में पानी भर गया। तेज बारिश के चलते शहर के अधिकांश इलाकों में एक घंटे तक बिजली भी गुल रही। शहर में  डेढ़ घंटे में 30 मिमी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार एक निम्न दाब का क्षेत्र पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी और उससे लगे उत्तर- पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर स्थित है, इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। मानसून द्रोणिका जैसलमेर, पूर्वी राजस्थान, नौगांव, पेंड्रा रोड, संबलपुर, पूरी और उसके बाद पूर्व- मध्य बंगाल की खाड़ी तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक द्रोणिका उत्तर-पूर्व अरब सागर से गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, उड़ीसा होते हुए निम्न दाब के केंद्र पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक 1.5 किलोमीटर से 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। मौसम विज्ञानी जेपी गुप्ता के अनुसार प्रदेश में शनिवार को अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छीटें पडने की संभावना है। राजधानी लखनऊ में आकाश मेघमय रहेगा। गरज-चमक के साथ एक-दो बार तेज बारिश होने की संभावना है।