बक्सवाहा में आयोजित 3 दिवसीय चित्रकला प्रतियोगिता का हर्षपूर्वक समापन

गांधी जयंती के अवसर पर विजेताओं का सम्मान, 1300 से अधिक छात्रों ने लिया भाग

 बक्सवाहा तहसील में विगत 28 से 30 सितंबर तक विभिन्न विद्यालयों में आयोजित चित्रकला प्रतियोगिता का समापन हर्षपूर्वक 2 अक्टूबर गांधी जयंती के पावन अवसर पर बक्सवाहा के मॉडल स्कूल में आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में हुआ। सर्वश्रेष्ठ चित्रों का प्रदर्शन की दीर्घा भी इस अवसर पर लगाई गई। 

 महावीर नवयुवक मण्डल द्वारा आयोजित इस प्रतिस्पर्धा का उद्देश्य बच्चों को कोरोना महामारी के भीषण त्रासदी के पश्चात बच्चों को पुनः विद्यालयों की ओर आकृष्ट करना तथा एक आधुनिक बक्सवाहा के विचार के प्रति उनकी सोच को विकसित करना रहा। प्रतियोगिता की सफलता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसमें  20 गांवों के 1, 300  से अधिक बच्चों ने इसमें भाग लिया। यह प्रतियोगिता बच्चों के लिए रचनात्मकता और अपनी कल्पना की उड़ान को सच करने के संकल्प को पूरा करने के लिए रंगों से भरा माध्यम बना। 

प्रतियोगिता में भाग लेने वाले 20 स्कूलों में से प्रत्येक 5 सर्वश्रेष्ठ कलाकृतियों को प्रतियोगिता के विजेताओं के रूप में चुना गया।

पुरस्कार समारोह में उपस्थित अतिथियों  मलहरा विधायक एवं अध्यक्ष राज्य नागरिक आपूर्ति निगम  श्री प्रदयुमान सिंह लोधी (कैबिनेट मंत्री का दर्जा), एसडीएम बिजावर श्री राहुल सिलादिया ने विजेताओं को पुरस्कार वितरित किये। 

कनिष्ठ ग्रुप के छात्रों ने ‘एक ख्वाब जो बक्सवाहा का हक़ीक़त हो!’, ‘मैं कल क्या बनूँगा’ और ‘मेरे सपने का बक्सवाहा’ के विषय पर चित्रन किया। सीनियर ग्रुप ने छात्रों नें ‘2030 का बक्सवाहा, ‘क्या कर सकता है बक्सवाहा का बच्चा, और ‘आत्मनिर्भर बक्सवाहा’ जैसे दीर्घकालिक विकास के विषयों पर अपनी कला का प्रदर्शन किया। 

इस अवसर पर, कहानी कहने के सबसे पुराने रूपों में से एक ‘नुक्कड़ नाटक’ भी बक्सवाहा में आरंभ किया गया। मंझे हुए कलाकार 6 दिनों तक 25 गांवों की यात्रा कर स्थानीय नागरिकों में जनमानस से जुड़े विभिन्न विषयों पर जागरूकता अभियान चलाएंगे। नुक्कड़ नाटक स्वास्थ्य देखभाल के विषय पर आधारित होगा और इसका उद्देश्य विभिन्न बीमारियों के बारे में जागरूकता पैदा करना और उचित स्वच्छता उपायों और COVID -19 सुरक्षा प्रोटोकॉल की आवश्यकता का प्रचार करना होगा।